बांसद्रोणी में बड़े भाई की मौत से पहले दोनों भाईयों ने की आत्महत्या की कोशिश

कभी शराब में नींद की दवा तो कभी गंगा में कूदने की कोशिश की थी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : बांसद्रोणी के निरंजनपल्ली में सेरीब्रल अटैक से मृत देवाशिष चक्रवर्ती ने मौत से पहले कई बार आत्महत्या की कोशिश की थी। यही नहीं उसके छोटे भाई शुभाशिष ने भी आत्महत्या की कोशिश की थी। अंत में जब देवाशिष को पता चला कि वे आत्महत्या नहीं कर पाएंगे इसलिए उन्होंने छोटे भाई शुभाशिष को निर्देश दिया थाकि वह तकिए से उसकी हत्या करने का बात कहकर पुलिस से गिरफ्तार हो जाए। शुभाशिष से पूछताछ के बाद पुलिस को कई तथ्य हाथ लगे हैं। इधर, एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि शुभाशि, नौकरी करके स्वस्थ तरीके से अपनी जीवन गुजार सके इसकी व्यवस्था करने की कोशिश की जा रही है। पुलिस के अनुसार बांसद्रोणी के सोनाली पार्क स्थित फ्लैट को छोड़कर निरंजन पल्ली के घर में आने के बाद से ही दोनों भाई मानसिक अवसाद से ग्रस्त थे। बड़े भाई देवाशिष चक्रवर्ती को हर महीने पेंशन के तौर पर 15 हजार रुपये मिलते थे। उसे हर वक्त चिंता रहती थी कि उसकी मौत के बाद शुभाशिष का गुजारा कैसे होगा। शुभाशिष 5 साल से बेरोजगार था, इसलिए देवाशिष को लगता था कि वह दो समय का भोजन भी नहीं जुटा पाएगा। इसलिए देवाशिष ने सोचा कि उसकी मौत के बाद भाई जेल में जाकर दो समय का भोजन खा सके, इसलिए उसने आत्महत्या की कोशिश की। ‌इस महीने रे शुरूआत में देवाशिष में शराब के साथ नींद का दवा मिलाकर पीया लेकिन उसकी मौत नहीं हुई। दोबारा उसने इसी तरह शराब के साथ नींद की दवाली लेकिन दूसरी बार भी उसकी मौत नहीं हुई। दो बार आत्महत्या की कोशिश बेकार होने पर देवाशिष शांत हो गए। इधर, बड़े भाई की सेवा करते हुए शुभाशिष ने भी आत्महत्या का योजना बनायी। इसके तहत गत 10 जून को उसने गंगा में कूदकर आत्महत्या करने की योजना बनायी लेकिन वह नहीं कर पाया। घर लौटने पर शुभाशिष ने देखा कि देवाशिष की तबयित ज्यादा खराब हो गयी है। इसपर उसने दोबारा घर से कुछ दूर जाकर फंदे से लटककर आत्महत्या की कोशिश की लेकिन सफल नहीं हो पाया। बाद में भाई की मौत के बाद उसने आतने में जाकर बड़े भाई के निर्देशानुसार उसकी हत्या करने की बात कहकर सरेंडर किया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आटा के बाद अब चावल भी महंगा…

नई दिल्ली : गेंहू के दामों में उछाल के बाद अब चावल  के दामों में तेजी देखी जा रही है, घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बाजार में आगे पढ़ें »

ऊपर