कड़ी निगरानी से टूटेगी कोविड की चेन, डॉक्टरों को उम्मीद

बढ़ते मामलों पर लगेगा अंकुश
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः राज्य सरकार ने रविवार से कोरोना वायरस के संक्रमण के सेकेंड वेव की चेन को तोड़ने के लिए कड़े उपाय अपनाए हैं। इसे आंशिक लाकडाउन ही कहा जा सकता है। हालांक एमरजेंसी परिसेवा को छूट की श्रेणी में रखा गया है। वहीं डॉक्टरों को उम्मीद है कि कड़ी निगरानी से सेकेंड वेव की चेन टूटने में लोगों को मदद मिल सकेगी। साथ ही मामलों में भी कमी आएगी। इसकी वजह है कि भीड़भाड़ नहीं होगी। वाहन न चलने से केवल जरूरी कार्य से जुड़े लोग ही निकलेंगे। ऐसे में इससे कोविड के मामलों की बढ़ रही रफ्तार को लगाम लगाया जा सकेगा।
कड़े कदम का स्वागत
सर्विस डॉक्टर्स फोरम (एसडीएफ) की ओर से डॉ.सजल विश्वास व स्वपन विश्वास ने सरकार के कड़े कदम का स्वागत किया। वेस्ट बंगाल डॉक्टर्स फोरम की ओर से डॉ. राजीव पाण्डेय ने भी कहा कि जिस प्रकार से कोविड के मामले लगातार बढ़ रहे थे, ऐसे ही कड़े उपाय की जरूरत है। आशा है कि जल्द हमारे राज्य में भी कोविड के मामलों में कमी आना शुरू हो जाएगी। फोर्टिस हॉस्पिटल के डॉ. शिवोव्रत बंद्योपाध्याय ने कहा कि हम पहले से ही सरकार को कुछ ठोस कदम उठाने की अपील कर रहे थे। आखिरकार सरकार ने कुछ पहल की है। इससे कोविड के मामलों को कम करने में काफी मदद मिल सकेगी।
11 लाख से अधिक हुए कोविड के मामले
राज्य में अब कुल कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या 11,14,313 हो चुकी है। एक्टिव मामले 1,31,948 दर्ज हैं। ऐसे में एक्टिव मामलों को कम करना ही इस प्रकार की सख्ती का मुख्य उद्देश्य है।
एक्टिव मामले कुछ क्षेत्रों में
क्षेत्र- एक्टिव मामले
उत्तर 24 परगना -26,047
कोलकाता-26,307
दक्षिण 24 परगना-8,201
हावड़ा-8,188
हुगली-7,356
नदिया-6,912

शेयर करें

मुख्य समाचार

अगर आप भी है अपने बढ़ते वजन से परेशान तो आज से ही खाना शुरु करें ये चीज

कोलकाताः भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के लगभग हर देश में बढ़ते वजन को लेकर लोग परेशान है। ऐसे में वजन कम करने के लिए आगे पढ़ें »

रक्षा से जुड़ी वेबसाइट हैक करने वाले थे चीनी अपराधी, पूछताछ में खुलासा

कोलकाता /मालदह : सीमाई इलाके से अवैध तरीके से भारतीय सीमा प्रवेश करते पकड़े गये अपराधी चीनी नागरिक हानजुनवे (36) ने फिर सनसनीखेज खुलासा किया आगे पढ़ें »

ऊपर