चुनाव से पहले बदल रही हैं हावड़ा की सड़कों की सूरत

लोग वर्षों से कर रहे थे सड़कों की मरम्मत की जाने का इंतजार
सन्मार्ग संवाददाता
हावड़ा : किसी भी दिन चुनाव की अधिसूचना जारी की जा सकती है। लिहाजा सड़कों की सूरत बदलने का काम तेजी से शुरू कर दिया गया है। इस सिलसिले में कहीं कहीं मरहम-पट्टी के अंदाज में सड़कें मरम्मत की जा रही हैं। यहां गौरतलब है कि सड़कों की सूरत ही किसी शहर का हाल बयान करती है। लिहाजा चुनाव से पहले हावड़ा की सूरत बदलने की कोशिश की जा रही है।
यहां उल्लेखनीय है कि हावड़ा में प्रवेश करते ही यहां की बदतर सड़कों से रूबरू होना पड़ता है। बीच-बीच में रफू करने के अंदाज में सड़कों की मरम्मत की जाती रही है। दरअसल उत्तर हावड़ा, बाली और दक्षिण एवं मध्य हावड़ा सहित हावड़ा की विभिन्न सड़कों पर दोबारा से पी​चिंग का काम किया जा रहा है। रोलर कोस्टर बन गई सड़कों की मरम्मत का काम अचानक शुरू किया गया है। रात में सड़कों की खुदाई कर के उसमें अलकतरा और स्टोन चिप्स डाले जा रहे हैं। वहीं विरोधी राजनीतिक दल इसे केवल चुनावी स्टंट बता रहे हैं।
क्या कहा गया निगम की ओर से
हावड़ा नगर निगम के प्रशासक अभिषेक तिवारी ने कहा कि निगम ने खराब सड़कों की मरम्मत का काम शुरू किया है। इसके पहले हावड़ा की गलियों में सीमेंट वर्क किया गया। मुख्य सड़कों में चाढ़ा रोड, मछली बाजार, गोलाबाड़ी और लिलुआ सड़कों की हालत सबसे ज्यादा खराब है। प्रशासक कहते हैं कि पहले उन्हें चलने लायक बनाया जाएगा। मुख्य सड़कों का निर्माण मेट स्टिक पद्धति के तहत कराया जाएगा। सड़कों को एकदम चिकना करते हुए उसमें रबर की चिप्स लगायी जायेगी। उदाहरण के तौर पर डीएम बंग्लो के सामने की सड़क, जी.टी. रोड आदि। इसके लिए निगम की तरफ से पहले निविदा मांगी गई थी।
क्या कहना है विरोधी नेताओं का
इस बारे में बाली की भाजपा नेता वैशाली डालमिया ने कहा ​कि निगम और केएमडीए जिन सड़कों का निर्माण करा रहे हैं वे गुणवत्ता की गड़बड़ी के कारण कुछ ही महीने टिक पाएंगी। यह केवल चुनावी स्टंट है और कुछ भी नहीं। वहीं इस विषय में उत्तर हावड़ा के भाजपा नेता अनिल गोयल ने कहा कि तृणमूल की सरकार ने सड़कों पर कोई ध्यान ही नहीं दिया। कहते हैं कि खुद उनके घर के सामने कई बार दुर्घटनाएं घटी लेकिन किसी ने कोई खबर ही नहीं ली। अब चुनाव नजदीक आ गया तो सड़कें बनायी जा रही हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल चुनाव में कन्हैया कर सकते हैं प्रचार, ओईशी बनेंगी उम्मीदवार

कोलकाता : विधानसभा चुनाव की तैयारियां सभी राजनीतिक पार्टियां कमर कसकर कर रही हैं। एक तरफ तृणमूल तो दूसरी ओर भाजपा के बीच इस बार आगे पढ़ें »

तृणमूल के घोषणापत्र पर टिकीं निगाहें

कोलकाता : तृणमूल कांग्रेस इस बार बहुत ही सोच-समझकर अपना घोषणापत्र जारी कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक आज मंगलवार को तृणमूल का घोषणापत्र जारी आगे पढ़ें »

ऊपर