राज्य खेल मंत्री की केंद्र से अपील, जलपाईगुड़ी विश्व बांग्ला क्रीड़ांगन पर दे ध्यान

  • जंगल में तब्दिल हुआ जलपाईगुड़ी विश्व बांग्ला क्रीड़ांगन
  • स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अधिन है स्टेडियम
  • मंत्री ने कहा : तीन महीने में केंद्र व्यवस्था नहीं करता तो तोड़ देंगे अनुबंध

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : जलपाईगुड़ी स्थित विश्व बांग्ला क्रीड़ांगन को लेकर राज्य खेल मंत्री अरूप बिश्वास ने केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर से अपील की है कि अगर तीन महीनों में इसे लेकर व्यवस्था नहीं की जाती है तो राज्य के साथ इसे लेकर हुए अनुबंध को मजबूरन तोड़ना पड़ेगा। मंत्री अरूप बिश्वास ने कहा कि यह स्टेडियम ममता बनर्जी का उत्तर बंगाल में ड्रीम प्रोजेक्ट था। यह स्टेडियम 27 एकड़ जमीन पर करीब 50 करोड़ रुपये की लागत से तैयार किया गया था। जिसे 2016 में स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया को सौंपा गया था। यहां आर्चिरी, टेबिल टेनिस, बेडमिंटन, जिमनेस्टिक समेत बाकी खेलों की ट्रेनिंग की पूरी व्यवस्था करते हुए इंफ्रास्ट्रक्चर बनाया गया था लेकिन आज तक साई की तरफ से यहां ट्रेनिंग करायी ही नहीं गयी है। आज स्थिति यह है कि पूरा इलाका जंगल में तब्दिल हो गया है जहां गाय घास चर रहे है। मंत्री ने कहा कि 2018 से 2021 तक तीन बार चिट्ठी दी गयी जिसमें एक का जवाब आया था कि हम देख रहे है। उसके बाद अब तक किसी ने इस बारे में कोई ध्यान नहीं दिया है। सितंबर महीने में खेल मंत्री अनुराग ठाकुर को भी इसकी जानकारी हेतु चिट्ठी दी गयी है, देखते है उनका जवाब क्या आता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

गंगा को प्रदू्षित होने से बचाना है : फिरहाद

अब तक लगभग 1700 मूर्तियों का किया गया विसर्जन कोविड प्रोटोकॉल को मानते हुए किया जा रहा है प्रतिमाओं का विसर्जन कोलकाता : दुर्गापूजा खत्म होने के आगे पढ़ें »

ऊपर