उच्च माध्यमिक में फेल छात्रों की शिकायतें लेना हुआ शुरू

7 दिनों तक चलेगी शिकायत लेने की प्रक्रिया
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : इस साल उच्च माध्यमिक परीक्षा में अनुत्तीर्ण घोषित किए गए कक्षा 12वीं के छात्रों के एक वर्ग के प्रदर्शनों के बाद पश्चिम बंगाल उच्चतर माध्यमिक शिक्षा परिषद (डब्ल्यूबीसीएचएसई) ने उन स्कूलों के प्रमुखों को एक सप्ताह के भीतर सहायक दस्तावेजों के साथ परिषद के कार्यालय में आने के लिए कहा है जहां के छात्रों ने ऐसी शिकायतें की हैं। डब्ल्यूबीसीएचएसई द्वारा इस साल की उच्चतर माध्यमिक परीक्षा में अनुत्तीर्ण घोषित किए गए कक्षा 12वीं के कई छात्रों ने शनिवार को राज्य भर में विरोध – प्रदर्शन के दौरान सड़कों को अवरुद्ध कर दिया। प्रदर्शनकारी छात्रों ने कहा कि इस साल कोविड-19 की स्थिति के कारण कोई परीक्षा नहीं होने के कारण उन्हें मूल्यांकन प्रक्रिया का खामियाजा भुगताना पड़ा है। उन्होंने हैरानी जतायी कि कैसे कुछ छात्रों को उत्तीर्ण घोषित कर दिया गया जबकि कुछ अन्य को असफल घोषित कर दिया गया।
प्रधान कार्यालय आकर अधिकारियों से मिलने कहा गया
डब्ल्यूबीसीएचएसई द्वारा शनिवार देर शाम की अधिसूचना में ऐसे सभी स्कूल प्रमुखों को रविवार से अगले सात दिनों के भीतर दोपहर 1 बजे से शाम 5 बजे तक प्रधान कार्यालय आने और परिषद के अधिकारियों से मिलने के लिए कहा गया है। परिषद के अध्यक्ष ने ऐसे स्कूल के अधिकारियों को परिषद के अधिकारियों से जल्द से जल्द मिलने के लिए कहा है जहां छात्रों ने परिणामों पर असंतोष प्रकट किया और प्रदर्शन किया है। इस साल 8,19,202 छात्रों में से 97.69 प्रतिशत को उत्तीर्ण घोषित किया गया है। इस सप्ताह की शुरुआत में, पश्चिम बंगाल बोर्ड ने कक्षा 10वीं का परीक्षा परिणाम घोषित किया था जिसमें शत-प्रतिशत छात्र सफल रहे थे।
कई परीक्षार्थियों को बैरंग लौटना पड़ा
रविवार को कई परीक्षार्थी काउंसिल कार्यालय में शिकायत लेकर आये थे, लेकिन उन्हें बैरंग लौटना पड़ा। दरअसल, काउंसिल की ओर से स्पष्ट तौर पर कहा गया है कि स्कूल के मार्फत आने पर ही शिकायत ली जाएगी। हालांकि रविवार को कई परीक्षार्थी अकेले या अपने अभिभावकों के साथ सीधे चले आये थे। इस कारण उनकी शिकायत नहीं ली गयी।
प्रधान शिक्षक या शि​क्षिका ला पायेंगे विद्यार्थियों को : महुआ दास
उच्च माध्यमिक शिक्षा संसद की प्रेसिडेंट महुआ दास ने कहा कि केवल प्रधान शिक्षक या शिक्षिका ही विद्यार्थियों को ला पायेंगे। उन्होंने बताया कि रविवार को कुछ प​रीक्षार्थियों को लौटना पड़ा। स्कूल के मार्फत नहीं आने के कारण ऐसा हुआ।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

भवानीपुर में तृणमूल समर्थक के संदेह में दो कॉलेज छात्रों पर हमला

भाजपा पर लगा आरोप सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सोमवार की रात तृणमूल समर्थक होने के संदेह में दो कॉलेज छात्रों की जमकर पिटायी कर दी गयी। घटना आगे पढ़ें »

ऊपर