…तो क्या राज्य में और कड़ा होगा लॉकडाउन?

बढ़ी सख्ती, दूसरे राज्यों से आने वालों के लिए कोरोना टेस्ट जरूरी
स्थिति बिगड़ी तो पाबंदियां हो सकती हैं और सख्त
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : राज्य में बेलगाम गति से बढ़ रहा है कोरोना। स्थितियों को देखते हुए राज्य सरकार पाबंदियां सख्त कर सकती है। इसका संकेत मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को अपने संवाददाता सम्मेलन के दौरान दिया। ममता ने कहा कि दूसरे राज्यों से यहां आने वाले लोगों का आरटीपीसीआर टेस्ट (काेरोना) होगा, अन्यथा उनके पास आरटीपीसीआर की रिपोर्ट होनी चाहिए। इतना ही नहीं राज्य प्रशासन को भी ममता ने सख्ती से पेश आने को निर्देश दिया है। अब तक यह साफ नहीं है कि जिन लोगों ने दोनों डोज ले लिये हैं उनके लिए भी टेस्ट अनिवार्य है या नहीं? इसके अलावा एयरपोर्ट पर सभी यात्रियों का कोरोना टेस्ट कैसे हो पायेगा, यह भी सवालों के घेरे में है।
कोरोना कम करने के लिए सख्त हो प्रशासन
ममता ने कहा कि पुलिस मास्क न पहनने वालों से सख्ती से निपटे क्योंकि कोरोना का एकमात्र बचाव चेहरे पर मास्क ही है। ममता ने कहा कि समय थोड़ा मुश्किल है मगर घातक नहीं है। केंद्र सरकार ने अपने दिशा-निर्देश में 7 दिनों के क्वारंटाइन की बात कही है। जिस तरह मामले बढ़ रहे हैं उसके लिए उन्होंने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को जिम्मेदार बताया है तथा कहा कि यूके की फ्लाइट्स के कारण संक्रमण अधिक बढ़ा है।
कोविड छिपाने वाली बीमारी नहीं है
ममता ने कहा कि जिन्हें हल्के लक्षण हैं, उन्हें अस्पताल में भर्ती नहीं कराया जाए। संवाद माध्यम को भी सीएम ने कहा कि ऐसी खबरें न करें जिससे दहशत फैले। ममता ने कहा कि करीब 500 फोन मेरे पास आये ये पूछने के लिए कि मेरी तबीयत कैसी है। उन्होंने कहा कि मैं कोविड पॉजिटिव हूं या नहीं इसकी गलत खबर न फैलाएं। अगर मुझे कोरोना होता भी है तो यह बात छिपाने वाली नहीं है। ममता ने कहा कि 7 दिन में 45000 पॉजिटिव मिले हैं जिनमें महज 920 भर्ती हैं। 194 अस्पतालों को कोविड अस्पताल के रूप में चिह्नित किया गया है। उन्होंने कहा कि कोलकाता के सीपी कोविड पॉजिटिव हैं। मेरे दोनों ड्राइवर कोरोना पॉजिटिव हैं। यह कोविड खतरनाक नहीं, बल्कि संक्रामक है फिर भी अन्य राज्यों की तुलना में बंगाल अभी भी सुरक्षित है। वैक्सीन को लेकर ममता ने बताया कि राज्य में 10 करोड़ 77 लाख का टीकाकरण कराया गया है। 4 लाख 56 हजार ने 15-18 साल की उम्र के बीच पहला टीका लिया है। 40% ने दूसरी खुराक भी पूरी नहीं की। ममता ने उनसे जल्द अपनी दूसरी खुराक लेने की अपील की।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पिता बना हैवान: बेटी के हाथ-पैर बांध कर….

गढ़वाः जिले से एक रिश्ते को कलंकित करने वाली घटना सामने आई है, जहां एक पिता पर शराब के नशे में पुत्री के साथ दुष्कर्म आगे पढ़ें »

ऊपर