तो क्या बच्चों में फ्लू ने बदला ट्रेंड?

बच्चों में अज्ञात ज्वर, डॉक्टरों ने विशेष सतर्क रहने की हिदायत दी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः अचानक बच्चों में अज्ञात ज्वर के मामले बढ़ने की घटना से स्वास्थ्य विभाग चिंतित हो उठा है। दूसरी तरफ डॉक्टर भी लोगों को सतर्क रहने की सलाह दे रहे हैं। वर्तमान कोविड-19 महामारी ने दुनिया भर में स्वास्थ्य प्रणालियों पर अतिरिक्त बोझ डाला हुआ है। सार्वजनिक स्वास्थ्य पर मंडराते हुए मौजूदा खतरों के साथ-साथ कोविड-19 जैसे नए खतरों को झेलना यानी दोहरी चुनौती का सामना करने के बराबर है। वरिष्ठ फीजिशियन डॉ.एस.के.सोंथलिया ने कहा कि जरूरत है कि लोग इन दिनों मौसमी बीमारियों को लेकर अधिक सतर्क रहें। वैसे खुशी की बात है कि अब कोविड के मामले कम आ रहे हैं। हालांकि इस बीच मच्छरजनित बीमारियों में मलेरिया व डेंगू के मामले बढ़ रहे हैं। डॉ. मुकेश संकलेचा, कंसलटेंट पेडियाट्रिशियन, बॉम्बे हॉस्पिटल कहते हैं कि स्वास्थ्य के संदर्भ में देखा जाए तो, कोविड-19 और मच्छर जनित रोगों के लक्षणों में काफी समानताएं हैं, इसकी वजह से मच्छरों और नए वायरस के कारण होने वाली बीमारियों में अंतर को समझना अनिवार्य बना दिया है। बुखार, शरीर में दर्द, सिरदर्द आदि लक्षण दिखायी देने पर डॉक्टर से संपर्क करें।
डॉ. राजेश कुमार सिंह, पेडियाट्रिशियन, फोर्टिस हॉस्पिटल कहते हैं कि वास्तव में इस बार अचानक से मौसमी बीमारियों ने बच्चों में अपना ट्रेंड बदला है। अचानक एक साथ काफी बच्चे बीमार होकर अस्पताल पहुंच रहे हैं। इसमें काफी बच्चों को वेंटिलर पर भी देने की जरूरत पड़ी है। यदि बच्चे अस्वस्थ हों तो काफी सतर्क रहें। वरिष्ठ पेडियाट्रिशियन डॉ. अशोक कुमार मित्तल ने कहा कि मौसमी बीमारी इस बार कुछ अलग रूप में नजर आ रही है। यही वजह है कि लोगों को अधिक जागरूक रहना होगा।
जलपाईगु‌ड़ी में चार दिनों में 120 बच्चे हुए थे भर्ती
पिछले दिनों जलपाईगुड़ी अस्पताल में चार दिनों में अचानक 120 बच्चे अस्वस्थ होकर भर्ती कराए गए थे। हालां‌कि सभी में मौसमी फ्लू का ही असर दिखा था। महानगर में भी कुछ अस्पतालों में बच्चों के अस्वस्थ होकर भर्ती होने की खबरें हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पापांकुशा एकादशी आजः इस व्रत को करने से होता है पापों का प्रायश्चित

कोलकाताः पापांकुशा एकादशी का व्रत रखने से मनोवांछित फल की प्राप्ति के लिए भगवान विष्णु के पद्मनाभ स्वरूप की पूजा की जाती है। पापांकुशा एकादशी का व्रत आगे पढ़ें »

बड़ी खबर : मां दुर्गा के सामने शोभन ने बैसाखी के माथे पर लगाया सिंदूर

सिंघु बॉर्डर मामले में निहंग ने हत्या की जिम्मेदारी लेते हुए किया सरेंडर

बड़ी खबर : सुजीत बोस के बेटे के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज

महानगरः दुर्गा प्रतिमा के विसर्जन के बाद बांटा जाएगा ‘मिल्कशेक’, क्योंकि…

अभी तक की बड़ी खबरें एक क्लिक पर, बने रहिए सन्मार्ग के साथ

बड़ी खबर : उत्तर प्रदेश के झांसी में ट्रैक्टर के पलटने से 11 लोगों की मौत

जाको राखे साइयां मार सके ना कोई : कैनल में गिरी टाटा सूमो, बाल-बाल बचे…

आज सुबह सिंघु बॉर्डर पर हुई हत्या के संबंध में संयुक्त किसान मोर्चा का बयान

कंधार की मस्जिद में जुमे की नमाज के दौरान धमाका, कई लोगों की मौत

ऊपर