शुभेंदु का बॉडी लैंग्वेज ही बता रहा था सब कुछ

3 जगहाें पर हुआ विरोध
सन्मार्ग संवाददाता
नंदीग्राम : गुरुवार को नंदीग्राम के महारण में भा​जपा के वरिष्ठ नेता और नंदीग्राम से भाजपा उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी का बॉडी लैंग्वेज ही सब कुछ बता रहा था। अमूमन गंभीर दिखने वाले शुभेंदु अधिकारी इस दिन कुछ मुस्कुराते हुए नजर आ रहे थे। शायद अपनी बॉडी लैंग्वेज से ही वह काफी कुछ बताना चाह रहे हैं। गुरुवार की सुबह लगभग 7 बजे नंदन आयकवाड़ के 76 नं. बूथ पर शुभेंदु मतदान करने पहुंचे। वह पार्टी कार्यालय से बाइक से यहां आये थे। सिर पर टीका और गले में भगवा गमछा ओढ़कर शुभेंदु मतदान के लिए पहुंचे। मीडिया कर्मियों की भारी भीड़ शुभेंदु की तस्वीरें कैद करने को तैयार थी। बाइक से उतरने के साथ ही वह सीधे बूथ के अंदर पहुंचे और मतदान किया। मतदान के बाद बाहर आकर उन्होंने आस-पास के लोगों से यह भी जाना कि मतदान में उन्हें कोई परेशानी तो नहीं हो रही। इसके बाद शुभेंदु फिर बाइक पर सवार होकर पार्टी कार्यालय चले गये जहां उन्होंने मीडिया कर्मियों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी को राजीव गांधी ने पहचान दिलायी। अटल बिहारी वाजपेयी ने उन्हें राजनीति में काफी कुछ दिया, लेकिन उन्होंने दोनों ही पार्टियों को धोखा दिया। पार्टी कार्यालय में कुछ समय बिताने के बाद शुभेंदु पूरे नंदीग्राम में विभिन्न बूथों का जायजा लेने के लिए निकल पड़े। शुभेंदु अधिकारी ने इस दौरान गढ़ चक्रबेड़िया, समसाबाद, सोना चूड़ा, सातेंगाबाड़ी समेत अलग – अलग बूथों का जायजा लिया।
छूए वृद्धजनों के पैर
मतदान कर बूथ से बाहर निकलते ही शुभेंदु अधिकारी ने एक वृद्ध दंपति के पैर छूए। इसके बाद दोनों ने उन्हें गले लगाकर आशीर्वाद दिया। आस-पास के लोग भी शुभेंदु अधिकारी को देखने के लिए काफी उत्सुक थे। घरों की छत और बालकनियों से लोग शुभेंदु को देखने के ​लिए खड़े थे।
की लोगों से बात, कहा शांतिपूर्ण हुआ चुनाव
विभिन्न बूथों का दौरा करने के समय शुभेंदु अधिकारी ने विभिन्न जगहों पर लोगों से भी बातें की। कभी किसी बूथ पर शुभेंदु महिला के साथ आये बच्चे को पुचकारते हुए दिखे तो कभी लोगों से यह जान रहे थे कि मतदान ठीक से हो रहा है या नहीं। कई बूथों का जायजा लेने के बाद शुभेंदु अधिकारी ने मतदान को लेकर संतुष्टि जतायी। उन्होंने कहा ​कि चुनाव बिल्कुल शांतिपूर्ण हुआ है और कहीं कोई शिकायत सुनने को नहीं मिली। तृणमूल काे लेकर उन्होंने कहा कि तृणमूल के लोग कहीं नहीं दिखे, यहां तक कि उनके एजेंट भी कहीं नहीं दिखायी दिये।
एक तरफ जय श्री राम तो दूसरी ओर जय बांग्ला
शुभेंदु अधिकारी जैसे ही रानीचक बूथ के पास पहुंचे तो इस दौरान उन्हें विरोध का सामना भी करना पड़ा। यहां एक ओर भाजपा समर्थक वोट देने के लिए कतार में खड़े थे जो जय श्री राम के नारे लगा रहे थे तो दूसरी ओर, तृणमूल समर्थक थे जो जय बांग्ला के नारे लगा रहे थे। जब तक शुभेंदु का काफिला गुजरा, ये नारेबाजी इसी तरह चलती रही। शुभेंदु का काफिला जैसे ही कुछ आगे बढ़ा तो फिर वहां मौजूद महिलाओं ने गाड़ियों पर पथराव किये जिसमें एक मीडिया कर्मी घायल हो गया। यहां महिलाएं शुभेंदु चोर है का नारा लगा रही थीं। हालांकि केंद्रीय बलों के जवानों ने तुरंत स्थिति को संभाल लिया। वहीं एक और बूथ का शुभेंदु दौरा करने पहुंचे तो वहां भी उन्हें गो बैक के नारे का सामना करना पड़ा। इसके बाद कुछ और बूथों को दौरा करते हुए शुभेंदु वापस पार्टी कार्यालय लौट गये।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मां दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए नवरात्रि शुरू होने से पहले कर लें ये काम

कोलकाताः चैत्र नवरात्रि 13 अप्रैल से शुरू होने वाली है। इस दौरान आदि शक्ति के नौ स्वरूपों की पूजा की जाती है। इन 9 दिनों आगे पढ़ें »

पांचवें चरण में 20% करोड़पति उम्मीदवार

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : चुनावों पर निगरानी रखने वाली संस्था एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की एक रिपोर्ट के अनुसार पश्चिम बंगाल चुनाव के पांचवें चरण आगे पढ़ें »

ऊपर