कोविड सर्वे में चौंकाने वाले आंकड़े, स्वास्थ्य विभाग सतर्क

चिंताजनक नहीं हैं हालात, सर्वे में खुलासा
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः दिल्ली, केरल में कोविड के संक्रमण की दर चौंकाने के समान है। हालांकि बंगाल के हालात इतने चिंताजनक नहीं हैं, लेकिन स्वास्थ्य भवन निगरानी में कोई कमी रखने को तैयार नहीं है। विभाग की ओर से कोविड की परिस्थिति पर रंग के आधार पर प्रभावित क्षेत्र का चयन कर निगरानी की जा रही है। राज्य के तीन जिलों के कुल पांच क्षेत्रों को स्वास्थ्य भवन द्वारा कोरोना के हल्के प्रभाव को देखते हुए ‘पिंक स्लिप्स’ घोषित किया गया है। स्वास्थ्य भवन यह देखने के लिए निगरानी कर रहा है कि क्या कोविड के मामले बढ़ तो नहीं रहे हैं। राज्य के किसी हिस्से में कोविड कोई परेशानी तो नहीं बन रहा है।
कोविड स्थिति को समझने के लिए रंग का सहारा
कोविड निगरानी के संदर्भ में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने कोविड के खतरे को समझाने के लिए तीन तरह के रंगों का सहारा लिया है। ये तीन रंग गुलाबी, काला और हरा हैं। यदि किसी जिले में एक सप्ताह में कोविड पॉजिटिव की संख्या 10 से अधिक हो जाती है तो उस क्षेत्र में कोविड-चिंता का रंग गुलाबी होता है।
यदि पीड़ितों की संख्या 5 से कम है, तो संबंधित क्षेत्र के नाम के फर्श पर काली स्याही के निशान पड़ रहे हैं। यदि पीड़ितों की संख्या 0-1 है तो वह क्षेत्र हरा है।
कोविड में गुलाबी रंग
-कोलकाता के 69 वार्डों में 15 प्रभावित
-न्यूटाउन कोलकाता विकास प्राधिकरण क्षेत्र में कोविड पॉजिटिव-12
-विधाननगर नगर निगम क्षेत्र में कोरोना प्रभावित-12
-खड़गपुर में कोविड पॉजिटिव-13
-लाभपुर कोविड पॉजिटिव-15
कोविड में ब्लैक रंग
-कोलकाता में दस से अधिक वार्ड ब्लैक रंग में शुमार हैं

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में भजन एवं गीत की प्रस्तुति, देखिए वीडियो…

जयपुर : जयपुर में राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बी एल संतोष की उपस्थिति में भजन एवं आगे पढ़ें »

ऊपर