कोलकाता में ऐतिहासिक डे-नाइट टेस्ट देखने पहुंचीं शेख हसीना, गांगुली ने किया स्वागत

hasina

कोलकाता : भारत और बांग्लादेश के बीच पहला ऐतिहासिक डे-नाइट टेस्ट शुक्रवार को कोलकाता के ईडन गार्डन्स में खेला जाएगा। इस ऐतिहासिक मैच की गवाह बनने बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना सुबह ही भारत पहुंच गईं है। उनका स्वागत करने के लिए बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली एयरपोर्ट पहुंचे। यह मैच शुक्रवार को कोलकाता के ईडन गार्डन्स में खेला जाएगा जो टेस्ट इतिहास का 12वां और एसजी पिंक बॉल से खेले जाने वाला पहला डे-नाइट टेस्ट होगा। इतना ही नहीं यह पहली बार सर्दियों के मौसम में खेला जा रहा है। इसके अलावा पिंक बॉल हेलिकॉप्टर्स के जरिए मैदान पर लाई जाएगी और दोनों टीमों के कप्तानों को सौंपी जाएगी। बताया जा रहा है कि शेख हसीना और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बेल बजाकर मैच की शुरुआत करेंगी।

एक बंगाली दूसरे बंगाली के आमंत्रण पर यहां आई : शेख हसीना

बंगलादेश की प्रधानमंत्री ने कहा, “मैं पीएम या सीएम के निमंत्रण पर नहीं जा रही हूं। एक बंगाली ने दूसरे बंगाली को मैच देखने के लिए आमंत्रित किया है।” इस बीच सूत्रों ने बताया कि शेख हसीना पहले दिन का खेल देखने के बाद उसी दिन स्वदेश लौट जाएंगी। बीसीसीआई के अध्यक्ष गांगुली ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी पहले दिन के खेल को देखने के लिए ईडन गार्डन आमंत्रित किया है। लेकिन नरेंद्र मोदी के व्यस्त कार्यक्रम को देखते हुए उनका आना मुश्किल लगता है। इसके बावजूद बंगाल क्रिकेट संघ पीएमओ कायार्लय के संपर्क में बना हुआ है।

बांग्लादेश के खिलाफ अजेय रहा है भारत

भारत और बांग्लादेश के बीच अब तक 10 टेस्ट हुए हैं। इनमें से 8 में भारत को जीत मिली है, जबकि 2 मैच ड्रॉ हुए। दोनों टीमों के बीच ये 7वीं टेस्ट सीरीज है। इन सभी में भारत अजेय रहा है। भारत ने इंदौर में खेले गए सीरीज के पहले मैच में बांग्लादेश को पारी और 130 रनों से हराया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

छात्रों के प्रदर्शन के आगे झुका कोलकाता विश्वविद्यालय

चांसलर को मंच पर आने की नहीं मिली अनुमति बिना चांसलर के ही हुआ दीक्षांत समारोह शर्मसार हुआ शिक्षा जगत सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पश्चिम बंगाल में छात्रों की आगे पढ़ें »

dhankhad

लंबे समय तक याद रहेगा यह तमाशा – राज्यपाल

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कलकत्ता विश्वविद्यालय के मंगलवार के दीक्षांत समारोह में भाग लेने में विफल रहने से नाराज राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा कि जिन आगे पढ़ें »

ऊपर