शर्बरी दत्ता का हुआ निधन, 24 घंटे तक बाथरूम में पड़ा रहा मशहूर फैशन डिजाइनर का शव

कोलकाता: मशहूर फैशन डिजाइनर शर्बरी दत्ता का शव करीब 24 घंटे तक घर के बाथरूम में पड़ा रहा । शुक्रवार को एनआरएस मेडिकल कॉलेज व अस्पताल में फैशन डिजाइनर के शव के पोस्टमार्टम में प्राथमिक तौर पर यह पता चला है। पुलिस के अनुसार शर्बरी की मौत सेरिब्रल अटैक के कारण हुई थी। बाथरूम के अंदर गिरने की वजह से उनके पैर में चोट आयी थी। पुलिस सूत्रों के अनुसार ऑटोप्सी सर्जन ने बताया कि पोस्टमॉर्टम के 36 घंटे पहले उनकी मौत हुई है। ऐसे में जांच अधिकारियों का अनुमान है कि बुधवार की देर रात को शर्बरी की मौत हो गयी थी। इस बीच जांच अधिकारियों के सामने कई सवाल उठ खड़े हुए हैं।

क्या है पूरा मामला 

शर्बरी दत्ता अपने बेटे अमलिन व बहू कनकलता के साथ ब्रॉड स्ट्रीट स्थित मकान में रहती थीं। हालांकि एक ही छत के नीचे रहते हुए भी मां-बेटे अलग-अलग रहते थे। शर्बरी मकान के ग्राउंड फ्लोर में रहती थी जबकि उनका बेटा अमलीन अपनी पत्नी और बेटी के साथ पहले तल्ले के कमरों में रहता है। बुधवार की रात 8 बजे आखिरी बार परिवार के सदस्यों ने शर्बरी को देखा था। इसके बाद गुरुवार की सुबह अमलिन और उसकी पत्नी ने शर्बरी के कमरे का दरवाजा बंद पाया। उन्हें लगा कि सुबह-सुबह वह किसी काम से बाहर चली गयी हैं। सुबह से शाम हो गयी और शर्बरी का पता नहीं चलने पर अमलिन को संदेह हुआ। शर्बरी के दो मोबाइल नंबर में से एक फोन बंद था और दूसरे पर घंटी बज रही थी। इस बीच रात 11 बजे तक शर्बरी के घर नहीं लौटने पर अमलिन और उसकी पत्नी जब उनके कमरे की तरफ गए तो उन्होंने कमरे का दरवाजा खुला हुआ पाया। साथ ही बिस्तर पर उनका मोबाइल पड़ा था। संदेह बढ़ने पर जब वे लोग बाथरूम में गए तो शर्बरी को अचेत अवस्था में पड़ा हुआ पाया। इसके बाद फैमिली डॉक्टर को बुलाया गया पर उन्होंने शर्बरी को मृत घोषित कर दिया।

शर्बरी की मौत के मामले में कई सवाल आए सामने

फैशन डिजाइनर शर्बरी दत्ता की मौत भले ही सेरिब्रल अटैक से हुई हो लेकिन अभी भी कई अनसुलझे सवालों का जवाब पुलिस तलाश रही है। शुक्रवार को पोस्टमॉर्टम के बाद ऑटोप्सी सर्जन ने पुलिस को बताया कि 36 घंटे पहले महिला की मौत हुई थी। शर्बरी के बेटे अमलिन दत्ता ने भी पुलिस को बताया कि उसने आखिरी बार बुधवार की रात 8 बजे अपनी मां को देखा था। ऐसे में पुलिस का सवाल है कि अगर उन्होंने आखिरी बार रात 8 बजे शर्बरी को देखा था तो क्या सुबह वह उनके कमरे में नहीं गए। ऐसी भी क्या परिस्थिति थी कि एक घर में रहते हुए भी मां-बेटे सिर्फ ब्रेकफास्ट पर मिलते थे। अगर ब्रेकफास्ट पर मिलते थे तो गुरुवार की सुबह उन्होंने मां के कमरे से बाहर नहीं निकलने पर उनकी खोज खबर क्यों नहीं ली। वहीं शाम तक मां के घर नहीं लौटने पर उन्होंने अपनी मां के दोस्तों को फोन कर क्यों नहीं पता लगाया कि वह बाहर गयी हैं कि नहीं। यही नहीं क्यों रात को 11 बजे वह अपनी मां के कमरे में गए, उससे पहले भी तो जा सकते थे। इन तमाम सवालों को लेकर पुलिस ने अमलिन से सवाल-जवाब किया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार अमलिन ने बताया कि मां के साथ उनके अच्छे संबध थे।

एक सप्ताह पहले वे लोग एक साथ शांतिनिकेतन गए थे। यही नहीं अमलिन ने बताया कि वह और उसकी मां का भोजन एक ही रसोई में बनता था। वे लोग एक साथ ही रहते थे। पुलिस सूत्रों के अनुसार इन सबके बीच सवाल उठता है कि जब उनके रिश्ते अच्छे थे तो सुबह से रात 11 बजे तक उन्होंने क्यों नहीं मां की खबर लेने की कोशिश की। यही नहीं पुलिस यह भी पता लगा रही है कि क्या अमलीन खुद से शर्बरी के कमरे में गये थे या किसी के फोन करने पर। पुलिस के अनुसार पोस्टमॉर्टम की फाइनल रिपोर्ट के बाद ही पूरा मामला साफ हो पाएगा। फिलहाल प्राथमिक तौर पर तो कुछ भी गलत नजर नहीं आ रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

हैदराबाद ने बेंगलुरु को 5 विकेट से हराया, सनराइजर्स छठवीं जीत के साथ टॉप-4 में पहुंची, बेंगलुरु दूसरे नंबर पर बरकरार

 शारजाह : आईपीएल के 52वें मैच में हैदराबाद ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को 5 विकेट से हरा दिया। सनराइजर्स की सीजन में यह छठवीं जीत आगे पढ़ें »

विम्बलडन चैम्पियन हालेप काेरोना संक्रमित

वाशिंगटन : विम्बलडन चैम्पियन सिमोना हालेप ने बताया कि वह कोरोना वायरस जांच में पॉजिटिव आयी है और उनमें इस बीमारी के ‘हलके लक्षण’ है। आगे पढ़ें »

ऊपर