शाह ने करवाये हमले, अभिषेक की जान खतरे में – ममता

त्रिपुरा के मुख्यमंत्री में इतनी हिम्मत नहीं
हम झुकेंगे नहीं, त्रिपुरा में जीतेंगे
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : बंगाल के बाद अब तृणमूल कांग्रेस और भाजपा त्रिपुरा को लेकर आर – पार की लड़ाई में उतर गयी हैं। पिछले कई दिनों से त्रिपुरा व बंगाल की राजनीति गरम है। सोमवार को सीएम ममता बनर्जी ने आरोप लगाया कि त्रिपुरा में उनके भतीजे, तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद अभिषेक बनर्जी व तृणमूल कार्यकर्ताओं पर हुए हमले के पीछे केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह का हाथ है। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री में इतना साहस नहीं है कि वे हमले करवाएं। सीएम ने कहा कि अभिषेक बनर्जी के पीछे गुंडे लगाये गये हैं। उनका जीवन संकट में है। उन्होंने कहा कि वह ऐसी हरकतों के आगे घुटने नहीं टेकेंगी।
इस दिन सीएम घायल तृणमूल कार्यकर्ताओं को देखने के लिए एसएसकेएम अस्पताल गयीं। कार्यकर्ताओं से मिलने के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि त्रिपुरा, असम, उत्तर प्रदेश और जहां भी भाजपा सत्ता में है, वहां वह अराजक सरकार चल रही है। हम अभिषेक और पार्टी कार्यकर्ताओं पर हुए हमले की निंदा करते हैं। केन्द्रीय गृह मंत्री की मदद के बिना ऐसे हमलों को अंजाम नहीं दिया जा सकता। इन हमलों के पीछे उन्हीं का हाथ है। उन्होंने कहा कि त्रिपुरा पुलिस की मौजूदगी में यह हमला किया गया और वह मूकदर्शक बनी हुई थी। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री में ऐसे हमलों के निर्देश देने की हिम्मत नहीं है। सीएम ने कहा कि त्रिपुरा में भाजपा दानवीय सरकार चला रही है। त्रिपुरा में तृणमूल जो गये उन पर हमले हुए। अभिषेक बनर्जी पर हमले किये गये। बाद में उन्हें एडमिनिस्ट्रेशन की तरफ से बुलेट प्रूफ गाड़ी दी गयी। अगर वह साधारण गाड़ी का कांच होता तो वह चूर-चूर होकर उनके माथे में घुस जाता। यह सब पुलिस के सामने हुआ। उन्होंने कहा कि इन सबसे हमलोग झुकने वाले नहीं हैं।
कई प्लान किये जा रहे हैं
उन्होंने कहा कि वहां के प्रशासन को यह तक कह दिया गया है कि कोई प्लेन, हेलिकॉप्टर भाड़ा में नहीं दिया जाये। हमलोगों के खिलाफ कई तरह के प्लान किये जा रहे हैं। अभिषेक प्लेन से जाते हैं तो उसके आसपास की 5 सीटों को बुक करके गुंडा लगा दिया जाता है। उनका जीवन खतरे में है। सीएम ने कहा कि भाजपा बाहर से 2 लाख लोगों को मंगवायी। विदेश से भी लोग लाये गये। दंगा लगाने की कोशिश करते हैं जबकि त्रिपुरा तो हमारा निकटतम राज्य है। त्रिपुरा की जनता इसका जवाब देगी। उल्लेखनीय है पिछले सप्ताह अभिषेक बनर्जी और तृणमूल कांग्रेस के छात्र कार्यकर्ताओं पर भाजपा शासित त्रिपुरा में अलग-अलग स्थानों पर हमले हुए थे। आरोप भाजपा पर लगा है। इसलिए ममता बनर्जी ने यह बयान दिया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

भाटपाड़ा में भाजपा सांसद के घर पहुंचे एनआईए अधिकारी

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : बैरकपुर के सांसद सह प्रदेश भाजपा के उपाध्यक्ष अर्जुन सिंह के भाटपाड़ा स्थित निवास स्थल पर बमबारी मामले में जांच के लिए आगे पढ़ें »

ऊपर