गंभीर मरीज को नहीं मिला पूरा इलाज, क्षतिपूर्ति का निर्देश

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः वेस्ट बंगाल क्लिनिकल इस्टेब्लिशमेंट रेग्युलेटरी कमिशन (डब्ल्यूबीसीईआरसी) में एक मरीज को पूरा इलाज नहीं मिलने को लेकर शिकायत की गई थी। आरोप है कि पुरुलिया के डॉक्टर असीत कुमार पात्र के अस्वस्थ होने पर उनकी बेटी सौमी पात्र ने दुर्गापुर के सनाका हॉस्पिटल में भर्ती करवाया। उन्हें कोविड था। यहां कुछ दिन बाद उनकी रिपोर्ट निगेटिव बताई गई व डिस्चार्ज कर दिया गया। बाद में उन्हें बेटी ने मिशन हॉस्पिटल में भर्ती करवाया। यहां उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इलाज के बाद निगे‌टिव रिपोर्ट आने पर वह अब घर पर हैं। मामले को लेकर आरोप था कि गंभीर मरीज होने के बाद भी उनका पूरा इलाज सनाका हॉस्पिटल ने नहीं किया। इसके अलावा बि‌लिंग संबंधी भी कुछ शिकायत थी। सनाका हॉस्पिटल के सीईओ ने एक लाख रुपये वापस करने की बात कही, इस पर परिजन राजी हो गए। वेस्ट बंगाल क्लिनिकल इस्टेब्लिशमेंट रेग्युलेटरी कमिशन (डब्ल्यूबीसीईआरसी) के चेयरमैन जस्टिस असीम कुमार बनर्जी ने कहा कि एक अन्य मामले में हेल्थ प्वाइंट नर्सिंग होम में भर्ती एक मरीज के बिल को लेकर भी शिकायत मिली थी। मामले में 61529 रुपये वापस करने का निर्देश दिया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

दोनों हाथ में पिस्तौल लेकर फेसबुक पर तस्वीर किया पोस्ट, पहुंचा हवालात

वाट्स ऐप ग्रुप बनाकर हथियारों की खरीद फरोख्त करता था अभियुक्त सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : दोनों हाथ में पिस्तौल लेकर फेसबुक पर तस्वीर पोस्ट करना एक युवक आगे पढ़ें »

ऊपर