जयगांव में सेंट्रल बैंक के असिस्टेंट मैनेजर की मौत से सनसनी

●जहर खाकर आत्महत्या करने की आशंका, जांच में जुटी पुलिस

जयगांव : सेंट्रल बैंक के असिस्टेंट मैनेजर की मौत से पूरे इलाके में व्यापक सनसनी फैल गई हैं। घटना अलीपुरद्वार जिले के भारत-भूटान सीमावर्ती शहर जयगांव की है। मृतक बैंक मैनेजर का नाम अनिल कुमार (30) है। वह बिहार के पश्चिम चंपारण जिले के बेतिया इलाके का निवासी था। फिलहाल वह जयगांव सेंट्रल बैंक में असिस्टेंट मेनेजर में रूप में कार्यरत था और जयगांव शहर में ही एक किराए के मकान में रहा करता था। पता चला कि गुरुवार को वह जयगांव के एक होटल में ठहरे हुए थे। दोपहर को अचानक उन्हें बेहोशी की हालत में देख होटल मालिक ने पुलिस और बैंक के अन्य कर्मियों को इसकी जानकारी दी। खबर पाकर बैंक के अन्य कर्मचारी और जयगांव पुलिस मौके पर पहुंचे एवं अनिल को बरामद कर कालचीनी के उत्तर लताबाड़ी ग्रामीण अस्पताल लाया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। अस्पताल प्रबंधक की ओर से इसकी जानकारी पुलिस प्रशासन को दी गई। कालचीनी थाना की पुलिस भी मौके पर पहुंची एवं मृतक मैनेजर के शव को बरामद किया। कालचीनी पुलिस सूत्रों से पता चला कि प्रारंभिक जांच में जहर खाने से ही मैनेजर के मौत होने का अनुमान लगाया जा रहा है। हालांकि शव को पोस्टमार्टम के लिए पहले अलीपुरद्वार जिला अस्पताल भेजा जाएगा। उसके रिपोर्ट आने के बाद ही उनके मौत की सही वजह का पता चल पायेगा। पुलिस पूरे घटना की गंभीरता से छानबीन कर रही है। घटना से पूरे जयगांव शहर में व्यापक हलचल मच गया हैं। इस विषय पर जयगांव सेंट्रल बैंक के बांच मैनेजर पालदेन लामा ने बताया कि आज हम ड्यूटी पर थे तभी होटल से हमारे पास खबर आई कि हमारे बैंक के असिस्टेंट मैनेजर बेहोशी की हालत में है। मौके पर वहां पहुंचे और उन्हें बरामद कर अस्पताल पहुंचाया तो पता चला पहले ही उनकी मौत हो चुकी थी। उन्होंने कहां घटनास्थल पर उनकी एक नोट जैसी वस्तु भी बरामद हुई है। लग रहा है कि उन्होंने जहर खाया होगा।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

सहारा इंडिया में फंसे हैं पैसे तो सरकार द्वारा दिये गये इस नंबर पर करें कॉल

नई दिल्लीः अगर आपके पैसे भी सहारा इंडिया में फंसे हैं तो आपके लिए काम की खबर है। ऐसे लोग जिनके पैसे सहारा इंडिया में आगे पढ़ें »

ऊपर