सुरक्षा की चादरों में घिर रहा है सेकेंड हुगली ब्रिज

* ताकि कोई नहीं लगा पाये छलांग, लग रही है आउटर रेलिंग
* दो सालों में 20 – 22 लोगों ने ब्रिज से कूद कर कर ली है आत्महत्या
* 10 – 11 लोगों को बचाया गया
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : कोलकाता से हावड़ा को जोड़ने वाला सेंकेड हुगली ब्रिज बेहद ही अहम ब्रिज है। यातायात के लिए यह ब्रिज सुगम है। कभी-कभी पुलिस के लिए उस समय परेशानी बढ़ जाती है जब सेकेंड हुगली ब्रिज (विद्यासागर सेतु ) से कोई कूदकर गंगा में छलांग लगाकर आत्महत्या कर लेता है। पहले ऐसे कई मामले सामने आये हैं। अब ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए सुरक्षा का दायरा पूरी तरह से बढ़ाया जा रहा है। सेकेंड हुगली ब्रिज के दोनों ओर आउटर रेलिंग लगायी जा रही है जिसकी ऊंचाई लगभग 9-10 फुट होगी ताकि कोई गंगा में छलांग नहीं लगा पाये। अभी इसकी ऊंचाई 3 फुट है। सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक पुलिस द्वारा यह प्रस्ताव एचआरबीसी को दिया गया है। एचआरबीसी की ओर से आउटर रेलिंग लगाने का काम शुरू कर दिया गया है।
क्या है पूरी योजना
दरअसल, सेकेंड हुगली ब्रिज पर जहां से फुटपाथ शुरू होता है वहां से लेकर गंगा वाला हिस्सा पार करते हुए उसके अगले छोर तक आउटर रेलिंग लगायी जायेगी। यह रेलिंग दोनों ओर से लगेगी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इसका काम शुरू हो चुका है। उन्होंने कहा कि पहले से एक रेलिंग है, अब उसके आगे करीब 9 फुट की बड़ी रेलिंग होगी। टार्गेट है कि 3 महीने में यह काम पूरा कर लिया जाये। सूत्रों के मुताबिक जहां इसका काम हो रहा है उसकी दूरी (दोनों ओर से) लगभग चार हजार आठ सौ मीटर होगी। इसके लिए करीब 90 से 91 लाख रुपये खर्च होंगे। यह बड़ा प्रोजेक्ट है।
कइयों ने लगायी है छलांग, कइयों को बचाया गया
गंगा में कूदकर आत्महत्या करने की कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं। कभी ऐसा भी देखा गया है कि ब्रिज पर गाड़ी खड़ी है और उसमें कोई नहीं है क्योंकि उसका मालिक गंगा में कूद चुका है। जानकारी के मुताबिक हाल में विद्यासागर सेतु की रेलिंग से कूदकर एक किशोर ने आत्महत्या की कोशिश की थी। इस दौरान वहां ड्यूटी पर तैनात एनवीएफ कर्मी ने किशोर को आत्महत्या करने से बचा लिया था। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि गत दो सालों में 30 से अधिक ब्रिज से कूदने या कूदने की कोशिश के मामले सामने आए हैं। हालांकि पुलिस की तत्परता से इनमें से 10 – 11 लोगों की जान बचा ली गयी, जबकि पुलिस की नजर से बचकर करीब 20 – 22 लोगों ने सेतु से कूदकर आत्महत्या कर ली। अब ऐसे में आउटर रेलिंग लग जाने से इन घटनाओं पर अंकुश लगाया जा सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आटा के बाद अब चावल भी महंगा…

नई दिल्ली : गेंहू के दामों में उछाल के बाद अब चावल  के दामों में तेजी देखी जा रही है, घरेलू और अंतरराष्ट्रीय बाजार में आगे पढ़ें »

ऊपर