सौमित्र पहुंचे बागनान, राजनीतिक पारा गरम, लाठीचार्ज

हावड़ा : भाजपा कार्यकर्ता किंकर मांझी की मौत के बाद गुरुवार को भाजपा की ओर से बागनान बंद बुलाया गया था। इस दौरान सुबह से ही बागनान की अधिकतर दुकानें व व्यवसाय बंद थे। भाजपा सांसद सौमित्र खां गुरुवार को बागनान पहुंचे। सौमित्र के पहुंचते ही बागनान की राजनीतिक गरमा गयी। आरोप है कि सौमित्र को पु​लिस ने इलाके में घुसने से रोक दिया। वहां मौजूद पुलिस का कहना था कि सांसद को चंदनापाड़ा इलाके में जाने की अनुमति नहीं है। इसे लेकर सांसद व पुलिस में बहस भी हुई। इसके साथ ही इस घटना का अवरोध कर रहे भाजपाइयों पर भी पुलिस द्वारा लाठीचार्ज करने का आरोप है।

इधर तृणमूल की ओर से भी विरोध जुलूस निकाला गया। इस स्थिति को काबू में करने के लिए इलाके में भारी संख्या में हावड़ा ग्रामीण पुलिस के जवान तैनात थे। बागनान के विधायक अरुनाभ सेन ने कहा कि भाजपा की ओर से इलाके में अशांति फैलाने की कोशिश की जा रही है।

सौमित्र के आने पर माहौल गर्म

एन. एच. 6 पर पहले से ही पुलिस के आला अधिकारी मौजूद थे। सौमित्र खां से पुलिस ने कहा कि वे आगे नहीं जा सकते हैं। इस घटना को लेकर एन. एच. 6 पर जाम लग गया। वहां सौमित्र के समर्थक जमा होकर नारेबाजी करने लगे। इसके बाद सौमित्र मृतक की पत्नी से मिलने पहुंचे और उसके बाद उन्होंने बागनान थाने का घेराव किया।

पत्नी ने कहा कि सब खत्म हो गया : किंकर की पत्नी ने कहा कि उसके पति की हत्या कर दी गयी। इलाके के नेताओं ने मेरे पति को छीन लिया। उसने कहा कि उनकी आंखों के सामने ही तृणमूल समर्थकों ने उसे गोली मार दी। इसके बाद उसे जमीन विवाद का नाम दिया जा रहा है। परिवार का आरोप है कि एक व्यक्ति को गोली मार दी गयी और उसकी हत्या को छुपाने के लिए उसे कोरोना का नाम दिया जा रहा है।

रै​ली निकाल रहे भाजपाइयों पर हमला, घायल 

सौमित्र खां का समर्थन पाकर बागनान में लगातार भाजपाई ​धिक्कार जुलूस निकाल रहे थे, इस दौरान आगजनी की गयी। इसके बाद वहां तैनात पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की। वे जब नहीं रूके तो आरोप है कि बागनान की पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज किया। इस घटना में 3 भाजपाई बुरी तरह से घायल हो गये।

सौमित्र खां ने इस घटना के विरोध में पुलिस प्रशासन व तृणमूल पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य में तालिबानी शासन चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बागनान के आईसी व हावड़ा ग्रामीण पुलिस के एसपी मिलकर इलाके में भाजपाइयों की हत्या करवा रहे हैं। इस घटना के मुख्य अ​भियुक्त को पुलिस ने अब तक गिरफ्तार नहीं किया है।

आखिर हुआ पोस्टमार्टम

कोलकाता के एनआरएस अस्पताल में आखिरकार कोविड प्रोटोकॉल को मानते हुए किंकर मांझी का पोस्टमार्टम किया गया। उसके शव को कोविड प्रोटोकॉल के तहत ही ले जाने की अनुमति दी गयी। उसके अंतिम संस्कार में केवल 2 ही परिजनों को जाने की अनुमति थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

प्रतिष्ठा बचाने उतरेगी भारतीय टीम, नटराजन या शार्दुल को मिल सकता है मौका

कैनबरा : पहले दो मैचों में एकतरफा हार के बाद भारतीय टीम का बुधवार को यहां ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे और अंतिम एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट आगे पढ़ें »

चैम्पियंस लीग : बार्सीलोना ने मेस्सी को दिया विश्राम

बार्सीलोना : बार्सीलोना ने फेरेंकवारोस के खिलाफ बुधवार को होने वाले चैम्पियंस लीग फुटबॉल मैच से पहले लियोनेल मेस्सी, मार्क आंद्रे टेर स्टेजेन और फिलीपे आगे पढ़ें »

ऊपर