आज छठ से पहले बंद हुए सरोवर के गेट, की गयी बैरिकेडिंग

रवींद्र सरोवर में कुल गेट : 12
सुभाष सरोवर में कुल गेट : 5
रवींद्र सरोवर में होती थी लगभग 50 हजार छठव्रतियों की भीड़
आस-पास के इलाकों में भी बैरिकेड लगाये गये
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : पिछली बार की तरह इस बार भी रवींद्र सरोवर और सुभाष सरोवर में छठ पूजा के आयोजन पर रोक लगा दी गयी है। ऐसे में आज यानी बुधवार को छठ पूजा की पूर्व संध्या पर यानी मंगलवार की शाम से ही रवींद्र सरोवर और सुभाष सरोवर के गेट बंद कर दिये गये। मंगलवार की शाम 6 बजे से दोनों सरोवर के गेट बंद किये गये, अब गुरुवार की शाम 6 बजे ही सुभाष और रवींद्र सरोवर के गेट खुलेंगे।
रवींद्र सरोवर के गेटों पर की गयी बैरिकेडिंग
रवींद्र सरोवर के कुल 12 गेटों को बंद करने के साथ ही बांस से पूरी तरह गेट को घेर दिया गया है। इस बारे में रवींद्र सरोवर की ओर से उत्तम कुण्डू ने बताया, ‘आज दोपहर 2 बजे से रवींद्र सरोवर को पुलिस की सुरक्षा में ले लिया जाएगा। रवींद्र सरोवर में आने वाले छठव्रतियों के लिए इस बार भी आस-पास कई अस्थायी घाटों की व्यवस्था की गयी है ​जहां ​जाकर श्रद्धालु अर्घ्य दे सकते हैं। जोधपुर पार्क, टॉलीगंज के अलावा भी कई अस्थायी घाटों की व्यवस्था केएमडीए की ओर से की गयी है।’ सभी गेटों पर बैरिकेडिंग करने के साथ ही खाली जगहों को भी टीन के शेड से ढंक दिया गया है ताकि खाली स्थान से किसी प्रकार कोई व्रती अंदर ना चला जाए।
केएमडीए द्वारा की जा रही है माइकिंग
सुभाष और रवींद्र सरोवर के सामने केएमडीए द्वारा माइकिंग की जा रही है। इसके अलावा आस-पास के इलाकों में भी घूमकर प्रचार किया जा रहा है कि इस बार भी सरोवर बंद रहेगा, ऐसे में छठव्रती नियमों का पालन करते हुए अस्थायी घाटों पर ही जाएं।
सुभाष सरोवर की ओर जाने वाली गलियों में भी बैरिकेड
रवींद्र सरोवर के साथ ही सुभाष सरोवर के भी सभी 5 गेटों को बंद कर बांस से बैरिकेडिंग कर दी गयी है। यहां ना केवल गेट बंद किये गये हैं बल्कि सुभाष सरोवर की ओर जाने वाली गलियों में भी बैरिकेड लगा दिये गये हैं ताकि कोई छठव्रती किसी तरह सुभाष सरोवर की ओर न जा सके। यहां सुरेन सरकार रोड पर बुधवार से ही बैरिकेडिंग कर दी गयी। ऐसे में इलाके में रहने वाले लोगों को दूसरी ओर से घूमते हुए जाना पड़ रहा है। इस बीच, कुछ वाहन सवार बैरिकेडिंग तक आये, लेकिन बैरिकेड लगा देख फिर वे दूसरी ओर मुड़ गये। इसी तरह मनबहादुर नाम का सिक्योरिटी गार्ड जो रोजाना फूलबागान से साल्टलेक पैदल ड्यूटी के लिए जाता है, उसे भी बैरिकेड के कारण थोड़ी मुश्किल हुई क्योंकि इस कारण उसे पूरी तरह घूमकर जाना पड़ा।
पास ही बनाया गया कृत्रिम जलाशय
सुभाष सरोवर के पास ही 31 नं. वार्ड के सेवक नगर में पिछली बार की तरह इस बार भी 3 कृत्रिम जलाशय बनाये गये हैं। पिछली बार इसे 2 फुट का बनाया गया था, लेकिन इस बार 2 फुट 2 इंच का बनाया गया है। कृत्रिम जलाशय बनने से स्थानीय लोगों ने प्रशासन को धन्यवाद देते हुए कहा कि पिछली बार की तरह इस बार भी सुभाष सरोवर में नहीं जा सकेंगे, ऐसे में इस कृत्रिम जलाशय से काफी मदद मिलेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

ठग ‘सुंदरी’ के प्रेम के चक्कर में सेक्सटोर्शन के शिकार हो रहे हैं लोग

महानगर में लगातार बढ़ रहा है सेक्शटोर्शन के मामले कोलकाता पुलिस के जागरुकता अभियान के बावजूद लोग हो रहे हैं शिकार सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : अगर आपके फोन आगे पढ़ें »

ऊपर