सापूरजी के लोगों ने कहा, ‘ब्रोकर कब किसे फ्लैट किराये पर दे दे, पता ही नहीं चलता’

सुखोबृष्टि में फ्लैट की संख्या : लगभग 12,000, एरिया : 400 एकड़
लगभग 70% लोग रहते हैं किराये पर
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : सापूरजी के सुखोबृष्टि के ब्लॉक डी में रहने वाले शुभेंदु दास एमएनसी में काम करते हैं। बुधवार को वह वर्क फ्रॉम होम में ही व्यस्त थे कि अचानक उन्हें खबर मिली कि उनके यहां ब्लॉक बी में एनकाउंटर हुआ है। इसी तरह आईटी कंपनी में काम करने वाले राहुल रॉय भी उस दौरान वर्क फ्रॉम होम कर रहे थे जब उन्हें एनकाउंटर की बात पता चली। गृहिणी रेखा मान्ना और देबस्मिता दास घर में ही थीं। गुरुवार को ये सभी लोग उस फ्लैट के पास आये थे जहां एनकाउंटर हुआ था। यहां रहने वाले लोगों के कई तरह के आरोप भी हैं। लोगों का कहना है कि आज बहुत बड़ी घटना हुई तो इसके बाद सब कुछ सामने आया। हालांकि इससे पहले कई तरह की घटनाएं हुईं हैं जिसे लेकर कई बार मेंटेनेंस कमेटी को शिकायत भी की गयी, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।
ब्रोकरों पर लोगों ने मढ़े आरोप
ब्लॉक डी में रहने वाली देबस्मिता दास ने कहा, ‘यहां हालत कुछ ऐसी है कि मालिकों को यह पता भी नहीं होता कि उनके घर में किराये पर कौन रह रहा है। इसका कारण है ब्रोकर। यहां जो ब्रोकर हैं, वे किसी को भी किराये पर दे देते हैं। पुलिस द्वारा इसका सत्यापन भी नहीं किया जाता है। हमारी मांग है कि कम से कम किराये पर रहने वाले लोगों का वेरिफिकेशन हो।’ इसी तरह शुभेंदु दास ने कहा, ‘जब घटना हुई उस समय मैं वर्क फ्रॉम होम कर रहा था। खबर सुनने के बाद मैं यहां आया। यहां काफी चीजें होती रहती हैं जिसे लेकर कई बार हमने शिकायतें भी की हैं। किराये पर रहने वाले लोगों का पुलिस वेरिफिकेशन भी नहीं होता है। किराया 2 लोगों को दिया जाता है, लेकिन वहां रहते हैं 4 से 6 लोग।’ रेखा मान्ना ने कहा, ‘इस तरह की घटना के बाद काफी डर लग रहा है। यहां सुरक्षा के और भी पुख्ता इंतजाम होना चाहिये।’
वीकेंड में खूब होती है पार्टी, इसे लेकर हुआ था विवाद
सापूरजी में रहने वाले लोगों ने कहा कि यहां वीकेंड में तेज आवाज में काफी पार्टी चलती रहती है। अधिकतर कम उम्र के किरायेदार यहां रहते हैं जो कंपनियों में काम करते हैं। वीकेंड पर वे तेज आवाज में पार्टी करते हैं जिस कारण परिवार के साथ रहने वाले लोगों को काफी मुश्किल होती है। इसे लेकर एक बार काफी विवाद भी हुआ था। इस बारे में डी ब्लॉक में रहने वाले राहुल रॉय ने बताया कि गत 12 जनवरी को उन्होंने सुखोबृष्टि के मैनेजमेंट कमेटी को शिकायत की थी कि यहां कई तरह की चीजें अक्सर होती रहती हैं। पत्नी के साथ हुए हादसे का जिक्र करते हुए राहुल रॉय ने कहा, ‘31 दिसम्बर की रात हमारे फ्लैट के पास वाले फ्लैट में ही जोर आवाज में डीजे बजाकर पार्टी चल रही थी। मैं और मेरी पत्नी काफी असहज महसूस कर रहे थे। जब मेरी पत्नी ने इसका विरोध किया तो उस फ्लैट में रह रहे लोगों ने उसके साथ बदतमीजी की। मैं बीच -बचाव करने गया तो उन लोगों ने मुझे मारने की कोशिश की, लेकिन पत्नी बीच में आ गयी जिस कारण उसका सिर फट गया था। यहां मैनेजमेंट कमेटी इस तरह की घटनाओं पर कभी कोई ध्यान नहीं देती।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

राज्य में गणतंत्र का घुट रहा है दम : राज्यपाल

शुभेंदु अधिकारी समेत भाजपा विधायक मिले राज्यपाल से सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सोमवार को​ विधानसभा में विपक्षी दल के नेता शुभेंदु अधिकारी समेत भाजपा विधायकों ने राजभवन आगे पढ़ें »

बेड पर सेक्स के दौरान कुछ इस तरह…

कोलकाता : परफेक्ट सेक्स जैसी कोई चीज नहीं होती है। सेक्स के दौरान हम सभी गलतियां करते हैं! कुछ गलतियां पूरी तरह से टाली नहीं जा सकती आगे पढ़ें »

ऊपर