दिन में सड़कें सूनी, शाम होते ही लग रहा ट्रैफिक जाम

पूजा पंडालों के लिए वाहनों में हो रही भारी भीड़
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः दुर्गा पूजा की रौनक महानगर में साफ नजर आ रही है। देखा जा रहा है ‌कि बड़ी संख्या में वाहनों में दर्शनार्थियों की भीड़ हो रही है। आलम यह है कि सुबह से लेकर दोपहर तक सड़कें सूनी सी नजर आ रही हैं। बस से लेकर अन्य वाहन कम हैं। हालांकि शाम होते ही शहर की सड़कों पर वाहनों की कतार सी लग जा रही है। ट्रै‌फिक जाम से लोग परेशान हो रहे हैं। बसों में रात के समय पैर रखने तक की जगह नहीं मिल रही है।
तो क्या निजी बसें हुईं कम?
निजी बसों की संख्या पहले के मुकाबले कम नजर आ रही है। माना जा रहा है कि दुर्गा पूजा के दौरान हर साल एक दिशा-निर्देश बस मालिकों को मिलता था। हालांकि इस बारे ऐसी कोई भी पहल नहीं की गई है। इस कारण कई रूटों पर बसों की संख्या काफी कम है। इस बारे में ऑल बंगाल बस मिनी बस समन्वय समिति के महासचिव राहुल चटर्जी ने कहा कि अब भी काफी बसें सड़कों से नदारद ही हैं। इसकी वजह है कि लोकल ट्रेनें बंद हैं। ऐसे में केवल चल रही स्टाफ स्पेशल लोकल ट्रेन से कितने लोग शहर आ पा रहे हैं, यह देखने वाली बात है। पूजा में काफी संख्या में यात्री अपने वाहनों से ही पूजा घूम रहे हैं। डीजल की कीमतों में भी बेतहाशा वृद्धि हो रही है। इस कारण भी बसें सड़कों पर अपेक्षा के अनुरूप नहीं हैं। काफी संख्या में उत्सवी मौसम में कर्मी अपने गांव चले जाते हैं। इससे भी बसों की संख्या थोड़ी कम ही है। हालांकि रात में भी बसों की परिसेवा जारी है।
टैक्सी व ऐप कैब भी मिलना हो रहा मुश्किल
पूजा के दौरान टैक्सी व ऐप कैब की मांग भी शहर में बढ़ गई है।यदि ऐप कैब व टैक्सी है भी तो किराया लोगों को ‌अधिक देना पड़ रहा है। विशेषकर लंबी दूरी तक जाने वालों को टैक्सी व ऐप कैब की कमी का सामना करना पड़ रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आज है रवि प्रदोष व्रत, जान लें तिथि और शुभ मुहूर्त

कोलकाताः प्रदोष व्रत सभी हिंदुओं के लिए महत्वपूर्ण दिनों में से एक है क्योंकि ये भगवान शिव को समर्पित है। ये दिन शुक्ल पक्ष और आगे पढ़ें »

ऊपर