सड़क है या कीचड़ ? लिलुआ का गोशाला रोड

कीचड़ से सने रोड से गुजरने को लोग मजबूर
सन्मार्ग संवाददाता
हावड़ा : हावड़ा का नाम सुनते ही पहले एक ही तस्वीर सामने आती थी खराब सड़कों की, परंतु अब धीरे-धीरे सड़कों की मरम्मत का काम किया जा रहा है। हालांकि अभी भी कई सड़कें एेसी हैं जो कि मरम्मत से कोसों दूर हैं। इनमें से ही एक इलाका है लिलुआ का गोशाला जो कि गायों के सरंक्षण के लिए मशहूर इलाका है, लेकिन वहां की सड़कों के कारण लोग वहां जाने से भी कतराते हैं। क्योंकि यहां सड़कें कम और कीचड़ ज्यादा नजर आते हैं। दरअसल मानसून आने से हर कोई खुश होता है लेकिन इस इलाके में हल्की सी भी बारिश मानो यहां के रहनेवाले लोगों की रूह काे कंपाने के लिए काफी है। ऐसा इसलिए कि बारिश में गोशाला की सड़कें कीचड़ से भर जाती हैं। इस कीचड़ से सनी सड़कों से होकर यहां के स्थानीय लोग गुजरने को मजबूर हैं। गौरतलब है कि गोशाला में करीब 300 लौह स्क्रैप की फैक्टरी है ​जहां पर सैकड़ों व्यवसायी अपना काम करते हैं।
कई बार दुर्घटना के शिकार हो चुके हैं लोग
टेम्पो चलानेवाले अशीष गिरि ने कहा कि गोशाला रोड की हालत इतनी दयनीय है कि यहां से गुजरनेवाली हर गाड़ी पंचर हो जाती है। उन्होंने कहा कि उनका टेम्पो कई बार यहां भरे हुए पानी में फंस गया है। सोनू गुप्ता ने कहा कि यहां आये दिन छोटी-छोटी दुर्घटनाएं घटती हैं। यहां कुछ दिनों पहले एक टोटो गुजर रहा था। अचानक वह उलट गया और उसमें बैठी एक बूढ़ी महिला को चोट लग गयी। के. प्रशांत साहा नामक एक दुकानदार का कहना है कि कीचड़ से भरा गंदा पानी उनकी दुकान में आ जाता है। इस​से लोग यहां तक नहीं आ पाते हैं और उनकी बिक्री ​नहीं होती है।
कीचड़ से गुजर कर करना पड़ता है काम
गोशाला में कार्यरत दीपक कानोड़िया ने बताया कि अक्सर बारिश आते ही रोड की हालत बद से बदतर हो जाती है। इसकी मरम्मत की सख्त जरूरत है। वहीं व्यवसायी प्रदीप अग्रवाल का कहना है कि इस रोड को लेकर कई बार​ शिकायतें की गयीं लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। व्यवसायी सत्यनारायण देवरालिया ने कहा कि यहां के व्यवसाइयों ने मिलकर कई बार यहां की सड़कों की मरम्मत का काम किया लेकिन सड़कें जस की तस हो जाती हैं। इस पर सरकार को विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।
प्रशासनिक अधिकारी आये भी लेकिन नहीं हुई कोई कार्रवाई
इलाके के रहनेवाले रणवीर सिंह का कहना है कि गोशाला रोड समेत लिलुआ के कई रोड खराब पड़े हैं। आये दिन दुर्घटनाएं घटती हैं। इसे लेकर कुछ दिनों पहले प्रशासनिक लोग यहां आये भी थे। इलाके का दौरा किया लेकिन कार्रवाई अब तक नहीं हुई। बारिश होते ही मुंह तले अंगुलियां दबानी पड़ती हैं और जान जोखिम में डालकर इन सड़कों से गुजरना होता है।
सरकार देगी नजर
इस खराब रोड काे लेकर हावड़ा नगर निगम के बोर्ड ऑफ एडमिनिस्ट्रेटिव के चेयरमैन अरूप राय का कहना है कि खराब रोड पर सरकार की ओर से विशेष ध्यान दिया जायेगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

प्रधानमंत्री से मिलने के बाद बोलीं ममता…

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी 5 दिन के दिल्ली दौरे पर हैं। मंगलवार को करीब 4 बजे उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से आगे पढ़ें »

ऊपर