फैसला : एसआईटी का नेतृत्व करेंगी रिटायर्ड जज मंजुला चेल्लूर

कोलकाता : कलकता हाई कोर्ट की सेवानिवृत्त मुख्य न्यायाधीश मंजुला चेल्लूर के नेतृत्व में बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद हुई हिंसा की जांच होगी। कलकत्ता हाई कोर्ट की ओर से गठित एसआईटी का नेतृत्व मंजुला चेल्लूर करेंगी। हाई कोर्ट ने फैसला सुनाया है। इससे पहले हिंसा के मामले में महिलाओं के खिलाफ अपराध और हत्या के मामलों की जांच के लिए सीबीआई ने संयुक्त निदेशक के नेतृत्व में चार टीमों का गठन किया था, सीबीआई ने हाई कोर्ट के सामने अपनी रिपोर्ट भी सौंपी थी, जिसमें हिंसा की बात का जिक्र किया गया है। हाल ही में कलकत्ता हाईकोर्ट की पांच न्यायाधीशों की पीठ ने इसी साल हुए राज्य विधानसभा चुनावों के बाद हिंसा की घटनाओं की स्वतंत्र जांच के वाली याचिकाओं पर सर्वसम्मति से फैसला सुनाते हुए अन्य सभी मामलों की जांच के लिए एक एसआईटी गठन का आदेश दिया था। जजों की इस बेंच में कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राजेश बिंदल के साथ न्यायमूर्ति आई पी मुखर्जी, न्यायमूर्ति हरीश टंडन, न्यायमूर्ति सौमेन सेन और न्यायमूर्ति सुब्रत तालुकदार शामिल थे।
सभी मामलों की जांच के लिए दिए गए आदेश
कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश राजेश बिंदल की अध्यक्षता वाली पांच न्यायाधीशों की पीठ ने कई याचिकाओं पर एकमत से फैसला लिया था। अदालत ने अन्य सभी मामलों की जांच के लिए विशेष जांच दल गठित करने का भी आदेश दिया। विशेष जांच दल में पश्चिम बंगाल कैडर के भारतीय पुलिस सेवा अधिकारी सुमन बाला साहू, सौमेन मित्रा और रणवीर कुमार शामिल होंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

इस उम्र की लडकियां चाहती है बिना कंडोम के सेक्स करना

कोलकाता : दुनिया में हमेशा सेक्स को लेकर लड़कों-लड़कियाें के बारे में ना जाने किस-किस तरह की बातें कहीं जातीं हैं। इंडियाना यूनिवर्सिटी ने स्कूल आगे पढ़ें »

ऊपर