खुल गयी खुदरा दुकानें, मगर…

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : राज्य सरकार ने गत सोमवार को घोषणा की कि मंगलवार से राज्य की खुदरा दुकानें दोपहर 12 से 3 बजे तक के लिए खुल सकती हैं। ऐसे में इसी घोषणा के तहत मंगलवार से दुकानें खोली भी गयीं। हालांकि परिवहन के साधनों की कमी और समय की पाबंदी के कारण दुकानदारों को ग्राहकों की कमी साल रही है। पहले दिन यानी मंगलवार को जो भी दुकानदार किसी तरह दुकान खोल पायें, उन्होंने दुकानें खोली।
बड़ाबाजार में खुदरा दुकानें दिखीं खुली
बड़ाबाजार में काफी खुदरा दुकानें खुली दिखायी दीं। हालांकि जो दुकानदार दूर-दराज में रहते हैं, वे परिवहन की कमी के कारण नहीं आ पा रहे हैं। नारकेलडांगा से बड़ाबाजार आयेकपड़ा दुकान के दुकानदार चंदन सिंह ने कहा, ‘दुकान तो मैंने खोल ली है, लेकिन जब तक परिवहन में कुछ सुधार नहीं आता, तब तक ग्राहक कैसे आयेंगे।’ हावड़ा एसी से टैक्सी से दुकान खोलने बड़ाबाजार में आये शिवरतन झंवर ने कहा, ‘दुकानें खोलने का समय सुबह 10 से 5 किया जाना चाहिये। जब तक बसें व अन्य परिवहन नहीं चलेंगे, तब तक ग्राहकों का फ्लो नहीं बढ़ेगा। अभी केवल स्थानीय ग्राहक या फिर जो निजी वाहन से आ सकते हैं, केवल वे ही आ रहे हैं।’ इसी तरह एक और दुकानदार दिनेश मिश्रा ने कहा, ‘दुकान खुलने का समय सुबह 11 से 5 बजे किया जाना चाहिये ताकि व्यवसाय ठीक से हो सके। केवल 3 घण्टे में दुकानदारी कैसे चलेगी।’
साइकिल से दुकानों तक पहुंच रहे हैं स्टाफ
ना केवल दुकान के मालिक बल्कि जाे स्टाफ भी दुकान तक पहुंच पा रहे हैं, उन्होंने आना शुरू कर दिया है। ऐसे में स्टाफ को कई कि.मी. तक साइकिल चलाकर दुकानों तक पहुंचना पड़ रहा है। सांतरागाछी से साइकिल चलाकर बड़ाबाजार आये एक दुकान के स्टाफ सुबोध साहा ने कहा, ‘दुकान तक पहुंचने में लगभग डेढ़ घण्टे का समय लगा। जब तक ट्रेनें नहीं चलेंगी, तब तक इसी तरह आना पड़ेगा।’ वहीं एक और स्टाफ पिंटू बारिक भी दमदम से साइकिल चलाते हुए बड़ाबाजार में पहुंचा। उसने कहा, ‘दुकान खोलने के लिए राज्य सरकार ने कहा है तो आना ही होगा। आखिर पेट का सवाल है, हालांकि परिवहन का भी कुछ साधन हो तो बेहतर होगा।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘उत्तर बंगाल में भाजपा की अंत शुरूआत हुई’

कहा - राज्य में भाजपा का पतन निकट अलीपुरदुआर के भाजपा अध्यक्ष सहित 7 नेता तृणमूल में शामिल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : उत्तर बंगाल में भाजपा को झटका आगे पढ़ें »

सेक्स के 4 ऐसे पोजीशन जो रात को बना देती है, खुशनुमा

कोलकाताः सेक्स दुनिया का सबसे अलग एहसास है। हालांकि सेक्स को लेकर तरह-तरह के सवाल सभी के मन में रहते है। इसे लेकर लोगों की आगे पढ़ें »

ऊपर