मेट्रो यात्रियों को राहत, कल से बढ़ी मेट्रो की संख्या, 5 मिनट में मेट्रो

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः सख्त पाबंदियों के धीरे-धीरे कम होने होने के बाद से सार्वजनिक परिवहन पर यात्रियों की संख्या धीरे-धीरे बढ़ रही है। मेट्रो रेलवे भी इसमें कोई अपवाद नहीं है। इसीलिए कोलकाता मेट्रो रेलवे ने इस बार मेट्रो परिसेवा को बढ़ाने का फैसला किया। 13 अगस्त यानी कि शुक्रवार से सोमवार तक कार्य दिवसों में 220 के बजाय 228 ट्रेनें चलेंगी।
बुधवार को कोलकाता मेट्रो रेलवे की ओर से जारी सूचना में कहा गया है कि 13 अगस्त से 8 अतिरिक्त मेट्रो चलाई जाएगी। अब से 114 ट्रेनें अप और डाउन लाइन पर चलेंगी। इसके अलावा, सुबह और दोपहर में यात्रियों की सुविधा के लिए, यानी कार्यालय समय के दौरान दोनों महानगरों के बीच की दूरी सात मिनट से घटाकर पांच मिनट कर दी गई है। इसका मतलब है कि अगर आप अभी मेट्रो से चूक जाते हैं, तो अगली मेट्रो पांच मिनट के बाद मिल जाएगी।
सेवा सोमवार से शुक्रवार सुबह 7 बजे शुरू होगी। कवि सुभाष यानी न्यू गरिया से दक्षिणेश्वर और दक्षिणेश्वर से न्यू गरिया लौटने वाली आखिरी मेट्रो रात 8 बजे रवाना होगी। शनिवार को भी शेड्यूल में कोई बदलाव नहीं हुआ। मेट्रो सुबह 8 बजे से 11.30 बजे तक और दोपहर 3.30 बजे से शाम 7.15 बजे तक चलेगी। केवल आपातकालीन सेवाओं से जुड़े कर्मचारी ही सेवा प्राप्त करेंगे। भीड़ से बचने के लिए अधिकारी अभी भी रविवार को आम यात्रियों के लिए मेट्रो सेवाएं सामान्य नहीं कर रहे हैं। टोकन सेवा अभी भी शुरू नहीं की जा रही है। इसका मतलब है कि आपको मेट्रो कार्ड का उपयोग करके ही मेट्रो ट्रेन लेनी होगी।
मेट्रो के पहले और आखिरी शेड्यूल पर एक नजर:
पहली मेट्रो
दक्षिणेश्वर से कवि सुभाष – सुबह 7.30 बजे
दमदम से दक्षिणेश्वर – सुबह 7.30 बजे
कवि सुभाष से दक्षिणेश्वर – सुबह 7.30 बजे
दमदम से कवि सुभाष – सुबह 7.30 बजे
अंतिम मेट्रो
दक्षिणेश्वर से कवि सुभाष – 7.48 शाम को
दमदम से कवि सुभाष -रात को 8 बजे
कवि सुभाष से दक्षिणेश्वर – रात को 8 बजे

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

जब बाहर का मौसम बहुत गर्म हो तो किस पोजीशन में करें सेक्स

कोलकाता : गर्मियों के मौसम में सेक्स करना बहुत से लोगों के लिए परेशानी बन जाता है। गर्माहट का मौसम आते ही लोग सेक्स करना आगे पढ़ें »

ऊपर