राज्य में लोकतांत्रिक मूल्यों का तेजी से खत्म होना खतरनाकः जगदीप धनखड़

प्रशासनिक पारदर्शिता का निचले स्तर पर है और ब्यूरोक्रेट पब्लिक नहीं बल्कि राजनीतिक सेवा में लगे हैं
बागडोगराः राज्य में प्रशासनिक पारदर्शिता सर्वाधिक निचले स्तर पर जाना राज्य की कानून और व्यवस्‍था के गिरने मानदंडों को दर्शाता है। राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने बागडोगरा एअरपोर्ट पर यह मंतव्य व्यक्त किया। उन्होंने कहा‌ कि यह क्षेत्र बंगाल का अहम और अभिन्न हिस्सा है। मैं यहां आना पसंद करता हूं। इसके साथ ही उन्होंने राज्य सरकार और प्रशासनिक अधिकारियों की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा कि राज्य में लोकतांत्रिक मूल्यों का ह्वास हो गया है। उन्होंने कहा कि पूरे राज्य में आज भय और आतंक का जो माहौल बना है वैैसा देश के किसी अन्य हिस्से में देखने को नहीं मिलता है। राज्य में मुख्य सचिव सहित आईएएस और आईपीएस अधिकारी अपने वास्तविक कर्तव्य निर्वहन की राह से हट कर जिस पागलपन से काम कर रहे हैं सटीक नहीं है। उन्हें संविधान और संवैधानिक पदों पर बैठे लोगों के प्रति जवाबदेह होना चाहिए लेकिन राज्य में ऐसा नहीं होना दुर्भाग्यजनक है। अधिकारी को बुलाकर कुछ पूछने पर जवाब नहीं मिलता और सूचना के अधिकार के तहत यहां किसी तरह की जानकारी उपलब्‍ध नहीं करायी जाती है।
उन्होंने कहा कि मैं ब्यूरोक्रेसी से कहना चाहता हूं‌ कि कानून और संविधान से ऊपर कुुछ नहीं है। अगर संविधान की अनदेखी की गयी तो लोकतंत्र को गंभीर परिणाम भुगतना होगा। उन्होंने कहा कि राज्य में हर जगह लोगों के लोकतांत्रिक अधिकारों का हनन हो रहा है। वहीं ब्यूरोक्रेट जनसेवा की जगह यहां राजनीतिज्ञों की सेवा में लगे हैं।
उल्लेखनीय है राज्यपाल जगदीप धनखड़ दो सप्ताह की यात्रा पर दार्जिलिंग आये हैं। इसी क्रम में वे मंगलवार को बागडोगरा पहुंचे थे। यहां बातचीत के बाद वे दार्जिलिंग के लिए रवाना हो गये।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

त्रिपुरा में महिला सांसद पर हमला, अभिषेक ने कहा : गुंडाराज चल रहा

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : त्रिपुरा में तृणमूल की राज्यसभा महिला सांसद सुष्मिता देव पर हमला हुआ है। उनकी गाड़ी में जमकर तोड़फोड़ की गयी है। यह आगे पढ़ें »

ऊपर