राजीव किस पार्टी में, फेसबुक पोस्ट ने खड़े किये सवाल

राजनीति के कई रंग
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : विधानसभा चुनाव के नतीजे आने से पहले तक जो राजीव बन​र्जी भाजपा की सभी बैठकों में विशेष आमंत्रित सदस्य के तौर पर पहुंचते थे, वे नतीजों की घोषणा के बाद से एक तरह से नदारद हैं। पिछली कई बैठकों से अनुपस्थित रहने के बाद मंगलवार की बैठक में भी राजीव बनर्जी हेस्टिंग नहीं पहुंचे। इसके साथ ही फेसबुक पर पोस्ट उन्होंने अब यह सवाल खड़ा कर दिया है कि आखिर वे किस पार्टी में हैं। एक तरफ भाजपा बंगाल में चुनाव बाद हिंसा को लेकर राष्ट्रपति के पास जाने वाली है तो दूसरी ओर, राजीव के ऐसे बयान से राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गयी है।
केवल 356 का डर ​दिखाने से कुछ नहीं होगा : राजीव
राजीव बनर्जी ने फेसबुक पर पोस्ट किया, ‘आलोचना तो बहुत हुई। लोगों का प्रचंड बहुमत लेकर निर्वाचित हुई सरकार की आलोचना और मुख्यमंत्री का विरोध करते हुए बात – बात में दिल्ली और धारा 356 का डर दिखाने से बंगाल के लोग इसे सही तरीके से नहीं लेते हैं। हम सबको उचित है कि राजनीति से ऊपर उठकर कोविड व यास दोनों आपदाओं से त्रस्त बंगाल के लोगों के साथ खड़े रहे।’
पोस्ट पर लोग पूछ रहे, आप तृणमूल में वापस कब लौटे
राजीव बनर्जी के फेसबुक पोस्ट पर लोग तरह – तरह के सवाल भी पूछ रहे हैं। कोई पूछ रहा है कि आप तृणमूल में वापस कब लौटे तो कोई कह रहा है कि आपको काफी सम्मान की नजरों से देखता था और सोचता था कि आप कभी पल्टी नहीं मारेंगे, लेकिन आपने जो खेल दिखाया, इससे अचंभित हूं।
अनुशासनात्मक कमेटी कर रही जांच
मंगलवार को ही दिलीप घोष ने पार्टी विरोधी गतिविधियों पर नजर रखने के लिए अनुशासनात्मक कमेटी के गठन की बात कही और इसी दिन राजीव बनर्जी ने फेसबुक पर पोस्ट भी कर दिया। ऐसे में राजीव के बयान की जांच भी अनुशासनात्मक कमेटी द्वारा की जाएगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेलेंटाइंस डे से कपल खुद को चेन में बांध कर रहा था प्रयोग, हुआ ये हाल !

नई दिल्ली : चेन में बंधकर एक-दूसरे के साथ रहने वाले कपल ने आखिरकार अपनी जंजीरें कटवा लीं। यूक्रेन के इस कपल ने अपने प्यार को आगे पढ़ें »

ब्रेकिंगः पश्चिम बंगाल बोर्डः आज होगा जारी…

कोलकाताः ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली पश्चिम बंगाल सरकार ने 7 जून को कक्षा 10 और 12 के लिए राज्य बोर्ड की परीक्षाएं रद्द कर आगे पढ़ें »

ऊपर