शनिवार को लाइव होंगे राजीव बनर्जी, चर्चा फिर तेज

हावड़ा : राज्य के मंत्री राजीव बनर्जी शनिवार को फेसबुक लाइव होनेवाले हैं। इसके पहले ही राजनैतिक माहौल में चर्चा तेज है। राजीव कई बार राज्य की मंत्री सभा की बैठक से नदारद रहे। वहीं बीच-बीच में वे पार्टी के खिलाफ भी बोलते हुए नजर आये। उनके नाम पर आमरा दादार अनुगामी के पोस्टर तक लगाये गये। इसके कारण राज्य की राजनीति बहुत ही गरम हो गयी थी। इसके बाद राजीव बनर्जी ने सोशल मीडिया में एक जानकारी देकर एक बार फिर राजनैतिक माहौल और गर्म कर दिया है। फेसबुक पोस्ट में राजीव बनर्जी ने कहा कि वह आगामी 16 जनवरी यानी कि शनिवार को फेसबुक लाइव करेंगे। राजीव बनर्जी के होनेवाले इस लाइव की जानकारी के बाद चर्चाओं का बाजार तेज हो गया है। राजीव वर्तमान में राज्य के वन मंत्री हैं। साथ ही वे जिला तृणमूल कांग्रेस के कोऑ​र्डिनेटर व डोमजूड़ के विधायक हैं। उन्होंने पोस्ट में लिखा है कि साधारण लोगों तक पहुंचने का सबसे ज्यादा मजबूत माध्यम है सोशल मीडिया। इसलिए वे फेसबुक लाइव में आ रहे हैं। यह सुनकर ही तृणमूल नेता आसमान में बादलों को निहार रहे हैं। ऐसा इसलिए कि हावड़ा जिलाध्यक्ष पद से लक्ष्मीरतन शुक्ला ने अचानक हाथ खींच लिया है। वहीं अगर शनिवार को राजीव ने ऐसा कुछ कह दिया तो शायद तृणमूल पर एक पहाड़ टूटना जैसा साबित हो सकता है, क्योंकि इसके पहले राजीव सामाजिक मंच से पार्टी पर साफ आरोप लगाते आ रहे हैं कि जो काम करते हैं उन्हें पीछे खींच लिया जाता है और जो फिल्ड में काम करता है उन्हें कोई मौका नहीं मिलता है बल्कि एसी रूम में बैठनेवालों को ही अवसर प्रदान किये जाते हैं। ऐसे में अब राजीव के फेसबुक लाइव की सूचना से ही तृणमूल में चिंता नजर आने लगी है। हालांकि इस विषय में तृणमूल की ओर से कुछ भी नहीं कहा गया है। हावड़ा जिला चेयरमैन व राज्य के मंत्री अरूप राय ने कहा कि सोशल मीडिया हर कोई अपनी बातों को सामने रखता है और वह उनका निजी मत है। इस पर कोई भी टिप्पणी करना गलत है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जब साजिद ने जिया से टॉप खुलवाकर ब्रा…

मुंबईः दिवंगत एक्ट्रेस जिया खान की जिंदगी पर बनी डॉक्युमेंट्री 'डेथ इन बॉलीवुड' हाल ही में यूके में रिलीज की गई। इस डॉक्युमेंट्री के दूसरे आगे पढ़ें »

ममता को मिला सहारा ! अखिलेश- भाजपा को हराने के लिए तृणमूल को देंगे समर्थन

उत्तर प्रदेश : पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव होने हैं। चुनाव से पहले ममता बनर्जी को सहारा मिला है समाजवादी पार्टी का। समाजवादी पार्टी के आगे पढ़ें »

ऊपर