एयरपोर्ट के अंदर और बाहर भरा बारिश का पानी, उड़ानें हुईं प्रभावित

एयरपोर्ट इलाक़े में लगा घुटनों तक पानी, कई यात्रियों की उड़ानें छुट्टी
कम दृश्यता के कारण उड़ाने हुईं डाइवर्ट, कइयों के संचालन में देरी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : 24 घंटे से जारी बारिश के कारण कोलकाता एयरपोर्ट इलाक़ा अंदर और बाहर दोनों ओर से जल मग्न हो गया। लगातार बारिश से एयरपोर्ट पर कम दृश्यता के कारण 3 उड़ानों को डायवर्ट करना पड़ा। वहीं अधिकतर उड़ानें 2 से 3 घंटे की देरी से संचालित हुई ।इससे यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। एयरपोर्ट गामी रास्तों पर घुटनों तक पानी होने के कारण वीआईपी रोड, कैख़ाली सहित कई स्थानों पर बाढ़ जैसी स्थिति थी। इस कारण इन इलाक़ों में ट्रैफ़िक स्लो हो गया। यहाँ से गुजरने वाले वाहनों को 10 मिनट के स्थान पर आधे से 1 घंटे का समय लग गया। इससे क़रीब दर्जनों यात्रियों की उड़ान छूट गयी। वहीं जिन विमानों ने देर से गंतव्य के लिए उड़ान भारी, उनमें इनमें से कुछ यात्रियों को जाने की अनुमति मिल गयी। कोरोना की दूसरे लहर के बाद विमान सेवाओं में काफ़ी कुछ बदला है। हर राज्य के अपने अलग अलग कोविड प्रोटोकाल हो गए हैं, ऐसे में जिन यात्रियों ने बुकिंग करा ली थी, इनमें से अधिकतर लोगों ने यात्रा की।
रन वे तक दिखा पानी
एयरपोर्ट के बाहर व एयरपोर्ट के भीतर एप्रोन इलाक़े में तथा हैंगर इलाक़े में बाढ़ की तरह स्थिति हो गयी। हालाँकि एयरपोर्ट प्रबंधन द्वारा पम्प चालू किया गया। इससे पानी को बाहर निकाला जा सके लेकिन इस साल यह अब की सबसे ज़्यादा बारिश वाला दिन रहा, जहां चारों ओर पानी ही पानी दिखा। एयरपोर्ट प्रबंधन के अलावा इंडिगो, स्पाइस जेट, विस्तारा एयरलाइंस की ओर से यात्रियों को घर से एयरपोर्ट आने के लिए जल्दी निकलने की अपील की गयी थी, ताकि जलमग्न इलाक़ों में लगे जाम के कारण उनकी उड़ानें ना मिस हो जाए।
उड़ान संख्या 6 ई 378 जो कि इम्फ़ाल से कोलकाता आ रही थी, इसे भुवनेश्वर डायवर्ट किया गया। इसके अलावा हैदराबाद से कोलकाता आने वाली उड़ान संख्या 6 ई – 6358 को भी पास के एयरपोर्ट भुवनेश्वर भेजा गया। वहीं मुंबई से कोलकाता आ रही उड़ान संख्या एसजी – 7010 को वाराणसी भेजा गया। ये उड़ाने दोपहर में कोलकाता आ रही थी। शाम तक मौसम ठीक होने के बाद इन्हें कोलकाता लाया गया।
एयरपोर्ट पर हुई 95 एमएम बारिश से यात्री हुए बेहाल
कोलकाता एयरपोर्ट पर सोमवार को 95 एमएम बारिश हुई, यह अपने आप में रिकॉर्ड है। पूरे दिन हुई बारिश के कारण एयरपोर्ट प्रबंधन की भी मुसीबतें बढ़ा दी थी। रन वे इलाक़ा ऊँचा होने के कारण बच गया लेकिन इसके आसपास का इलाक़ा जलमग्न हो गया। इस दौरान एयरपोर्ट के बाहर भी पानी लग गया। ऐसे में भारी भारी सामानों के साथ एयरपोर्ट पर पहुँचे यात्रियों को काफ़ी परेशानी हुई। एक तो एयरपोर्ट पर पहुँचने के दौरान बारिश के कारण जाम की समस्या और उस पर एयरपोर्ट पहुँचने पर लगेज ना भीगे इसका टेंशन। सोमवार को सफ़र करने वाले यात्रियों ने सच में इंग्लिश वाला शब्द सफ़र किया यानी कि इन्हें काफ़ी परेशानी झेलनी पड़ी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

मदन ने कमरहट्टी के तृणमूल नेताओं पर साधा निशाना

पूर्व मंत्री तथा कमरहट्टी से विधायक मदन मित्रा ने एक बार फिर  अपने इलाके के तृणमूल नेताओं पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि हमारे आगे पढ़ें »

ऊपर