हावड़ा में लगातार बारिश के बाद लबालब हुईं सड़कें, निगम का दावा फेल

ईस्ट-वेस्ट बाईपास, ​टिकियापाड़ा, इच्छापुर मोड़ और मुसलमान पाड़ा में कमर तक पानी
हावड़ा : मानसून में हावड़ा में हुई हल्की बारिश ने एक बार फिर हावड़ा नगर निगम की पोल खोल कर रख दी है। शुक्रवार की सुबह हुई कुछ घंटों की बारिश में शहर जलमग्न हो गया। यहां की सड़कें तालाबों में तब्दील हो गयीं। हावड़ा के कई इलाकों में घुटनों तक पानी भर गया। मुख्य रूप से ईस्ट-वेस्ट बाईपास रोड, टिकियापाड़ा, इच्छापुर मोड़, पंचाननतल्ला एवं मुसलमान पाड़ा लेन में गुजरनेवाले सारे वाहन बीच रोड में ही फंस गये। कइयों की तो स्कूटी ही बंद हो गयी। वहीं हर बार निगम की ओर से यह दावा किया जाता है कि जलजमाव को लेकर तरह-तरह की परियोजनाएं बनायी गयी हैं लेकिन शायद उसे केवल कागज तक ही ​सीमित रखा गया है। वहीं लाेगों का कहना है कि निगम को जमीनी स्तर पर काम करने की आवश्यकता है।
इन इलाकों में हुआ जलजमाव
मध्य हावड़ा के रामराजातल्ला, कदमतल्ला बाजार, बेलगछिया, सलकिया, बेलूड़ स्टेशन अंडरपास, टिकियापाड़ा अंडरपास, सापुईपाड़ा आदि इलाकों में जलजमाव हुआ।
हर बारिश में होती है दयनीय स्थिति
हावड़ा के एमसी घोष लेन में कई घरों में पानी घुस गया। लोगों का कहना है कि निकासी व्यवस्था बहुत ही खराब है। नालियों का पानी लोगों के घरों में ही घुस गया। इसके कारण लोगों को अपने पलंग पर बैठकर पूरा दिन गुजारना पड़ा। यहीं हाल ईस्ट-वेस्ट बाईपास के आसपास के इलाकों का था। यहां पर बस्ती में रहनेवाले लोगों को कई तरह की असुविधाएं हुईं। लोगों का कहना है कि हर बार बारिश में निगम की ओर से यह दावा किया जाता है कि इस बार जलजमाव नहीं हाेगा और न ही उनके घरों तक पानी घुसेगा लेकिन एेसा नहीं होता है।
बेलूड़ के अंडरपास में जमा पानी
बेलूड़ स्टेशन रोड के अंडरपास में पिछले कई सालों से पानी जमता आ रहा है। यहां पर हल्की बारिश में ही अंडरपास में कमर तक जलजमाव हो जाता है। इससे वहां से गुजरनेवाले लोग अपनी जान को जोखिम में डालकर रोड पार करते हैं। एक साइकिल सवार का कहना है कि सापुईपाड़ा, निश्चिंदा के लोगों को वैक्सीनेशन के लिए बेलूड़ स्टेट अस्पताल जाना पड़ रहा है। यहां पर जलजमाव के कारण लोगों को यह भी डर है कि कहीं अंडरपास का कोई हिस्सा टूटकर न गिर जाये। वहीं लोग कमर तक जमे उस पानी से होकर वैक्सीनेशन के लिए जा रहे हैं। इधर जलजमाव के कारण टोटोवाले भी रोड पार करने से मना कर रहे हैं। टोटोवालों का कहना है कि इतना पानी है कि उनका टोटो भी डूब जा रहा है।
रेलवे ट्रेकों में भी जमा पानी
हावड़ा में हुई बारिश में विभिन्न रेलवे स्टेशनों के ट्रेकों पर पानी जम गया है। हावड़ा, बेलूड़, टिकियापाड़ा में ट्रेकों में पानी जमने से लोग अपनी जान को जोखिम में डालकर रेलवे ट्रेक को पार कर रहे हैं। हालांकि इसे लेकर पूर्व व दक्षिण पूर्व रेलवे के जीएम ने आपातकालीन बैठकें भी की ताकि ट्रेनों को और परिसेवाओं में कोई व्यवधान न हो।
निगम द्वारा काम जारी
हावड़ा में हुए जलजमाव को लेकर एडमिनिस्ट्रेटिव बोर्ड के चेयरमैन अरूप राय ने सन्मार्ग को बताया कि हावड़ा के 50 जगहों पर जहां पर ज्यादा जलजमाव होता है, वहां पर पम्प लगाकर पानी निकालने का काम शुरू कर दिया गया है। आगामी कुछ ही घंटों में सड़कों से पानी निकल जायेगा। लॉकगेट को भी खोल दिया गया है। बारिश भी ज्यादा हुई है। करीब 200 मि.मी. बारिश हुई है तो सभी अपने काम में लगे हुए हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

महानगरः सिनेमा हॉल में स्क्रीनिंग….

कुछ सिनेमा हाल मालिकों ने सिंगल स्क्रीनिंग के साथ शुरू किया परिचालन सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः शहर के सिनेमा हॉल मालिकों ने कहा कि वे पश्चिम बंगाल सरकार आगे पढ़ें »

ऊपर