मानसून में रेलवे सेवा पर कोई असर न पड़े, की गयी उच्चस्तरीय बैठक

कोलकाता : मानसून को लेकर रेलवे ने कई अहम निर्णय लिए ताकि इस मानसून में रेलवे परिसेवा पर कोई असर न पड़े। इसे लेकर रेल मंत्री से लेकर अधिकारियों ने उच्चस्तरीय बैठक की। दरअसल मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार से लेकर आगामी सोमवार के बीच मानसून की बारिश होगी। एैसे में जलजमाव होकर यार्ड व पटरियों में जलजमाव से सेवाएं प्रभावित हो जाती है। इसे लेकर रेल मंत्री पीयुष गोयल ने बैठक करते हुए कहा कि कोरोना काल को ध्यान में रखते हुए इसका ध्यान रखना होगा कि ट्रेनों की आवाजाही में कोई रूकावट नहीं हो। वहीं मुम्बई के लिए उन्होंने कहा कि रेलवे इसे लेकर आईआईटी मुम्बई व मौसम विभाग का भी सहयोग लेगा। वहीं विभाग स्तर की बात की जाये तो पूर्व रेलवे के जीएम मनोज जोशी ने भी बैठक की। क्योंकि आनेवाले दिनों में राज्य में ट्रेनाें की संख्या बढ़ेगी। हावड़ा, सियालदह एवं कोलकाता से औऱ् 33 जोड़ी ट्रेनों की परिसेवा शुरू हो सकती है। इसे लेकर गत मंगलवार को ही अनुमति आयी है। इसलिए कई निर्णय लिये गये हैं। स्टेशन व यार्ड में जलजमाव हो तो इससे प्वाइंट खराब न हो। इस पर निगरानी रखी जायेगी। वहीं कई लाइनें एैसी है जहां पर अक्सर जलजमाव हो जाता है। इसके साथ ही लिलुआ, टिकियापाड़ा के यार्ड में भी जलजमाव होता है। इसलिए वहां पर ट्रेन रखने के लिए मना किया गया है। निचली स्टेशनों से ट्रेनों को हटा दिया जायगा। ओवरहेड तार, सिग्नल एवं टेलीकॉम विभाग के कर्मियों को भी सर्तक रहने के लिए कहा गया है। पम्प जनरेटर, डिजल इंजन तैयार रखने के लिए कहा गया है। वहीं बारिश के दौऱन कोई परेशानी न हो। इसके लिए विभाग अधिकारियों को भी सर्तक रहने के लिए कहा गया है। इधर मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी एकलव्य चक्रवर्ती ने कहा कि दुर्घटनाओं के अलावा किसी भी प्रकार से सेवाएं प्रभावित न हो। इसका पूरा ध्यान रखा जायेग।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राज्य में गणतंत्र का घुट रहा है दम : राज्यपाल

शुभेंदु अधिकारी समेत भाजपा विधायक मिले राज्यपाल से सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सोमवार को​ विधानसभा में विपक्षी दल के नेता शुभेंदु अधिकारी समेत भाजपा विधायकों ने राजभवन आगे पढ़ें »

बेड पर सेक्स के दौरान कुछ इस तरह…

कोलकाता : परफेक्ट सेक्स जैसी कोई चीज नहीं होती है। सेक्स के दौरान हम सभी गलतियां करते हैं! कुछ गलतियां पूरी तरह से टाली नहीं जा सकती आगे पढ़ें »

ऊपर