अन्नदाताओं की व्यथा ​​दिखा रहा दमदम भारत चक्र का पूजा पंडाल

किसान आंदोलन में क्या-क्या सहा किसानों ने, लखीमपुर में कैसे मारे गये किसान उकेरी गयी हर तस्वीर
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : किसान आंदोलन से लेकर लखीमपुर खीरी की घटना एक तरफ जहां पूरे देश में राजनी​तिक माहौल गर्म कर रही है वहीं बंगाल के महापर्व दुर्गापूजा में भी इसकी छवि इस बार देखने को मिल रही है। दमदम पार्क भारत चक्र ने इस बार इन किसानों को ही थीम के तौर पर इस्तेमाल किया है। पूरे पंडाल में किसानों की व्यथा दिखाने की खूबसूरत कोशिश की गयी है। किसान आंदोलन से लेकर लखीमपुर खीरी की किसानों से जुड़ी हिंसक घटना का बखूबी वर्णन इस पंडाल में किया गया है। मां दुर्गा की प्रतिमा को जिस तरह विराजित किया गया है वहां पूरी तरह ग्रामीण वातावरण का अनुभव होता है। लाइटिंग भी उसी आधार पर की गयी है जहां लाइट की अधिक चकाचौंध तो नहीं है बल्कि मूनलाइट में शांत व गंभीर वातावरण दिख रहा है।


किसान अन्नदाता हैं उन पर अत्याचार न करें
पूजा कमेटी से जुड़े सदस्य ने बताया कि इस थीम में राजनीतिक रंग नहीं है। हमने सिर्फ किसानों की व्यथा दिखाने की कोशिश की है। काफी दिन से किसानों का आंदोलन चल रहा है। इस विषम परिस्थिति में कई किसान ऐसे हैं जिनकी मनोदशा हर कोई नहीं समझ सकता है। बस वही दिखाना हमारा मकसद है। एक ट्रैक्टर सजाया गया है जिसमें पंखेनुमा आकृति लगायी गयी है जो बताता है कि किसानों को लंबी उड़ान मिले ताकि वो अपना लक्ष्य हासिल कर सकें।


​बिखरी चप्पलें दिखा रहीं लखीमपुर की तस्वीर
पंडाल में पुराने और टूटे चप्पलों को बिखरा हुआ दिखाकर लखीमपुर की तस्वीर दर्शाने की कोशिश की गयी है। दीवार पर 3डी और 4डी की पेंटिंग कर वहां की घटना का जिक्र किया गया है। पंडाल में स्टैंड विद लखीमपुर खीरी के पोस्टर लगे हैं जो बताते हैं कि हम किसानों के साथ हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

क्या लद्दाख में फिर से बढ़ रहा तनाव? वायुसेना प्रमुख पहुंचे लेह एयरबेस

नई दिल्ली : वास्तविक नियंत्रण रेखा(एलएसी) पर तनावपूर्ण हालातों के बीच वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी शनिवार को लद्दाख पहुंचे हैं। इस दौरान आगे पढ़ें »

ऊपर