संपत्ति देश की है, भाजपा या मोदी की नहीं : ममता

एनएमपी पर दी तीखी प्रतिक्रिया
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : राष्ट्रीय मौद्रीकरण पाइपलाइन (एनएमपी) नीति को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बुधवार को केंद्र पर जमकर बरसीं। केंद्र की भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए ममता ने दावा किया कि यह देश की संपत्ति बेचने की साजिश है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी या भाजपा की संपत्ति नहीं है। ममता ने कहा कि एनएमपी ‘चौंकाने वाला और दुर्भाग्यपूर्ण फैसला’ है। इन संपत्तियों को बेचने से मिले पैसों का इस्तेमाल चुनाव के दौरान विपक्षी दलों के खिलाफ किया जाएगा।
ममता ने पत्रकारों से कहा, ‘हम इस चौंकाने वाले और दुर्भाग्यपूर्ण फैसले की निंदा करते हैं। ये संपत्ति देश की है। ये न तो मोदी की संपत्ति है और न ही भारतीय जनता पार्टी की। केंद्र सरकार अपनी मर्जी से देश की संपत्ति को नहीं बेच सकती।’ उन्होंने कहा कि पूरा देश इस ‘जनविरोधी’ फैसले का विरोध करेगा और एक साथ खड़ा होगा। उन्होंने कहा, ‘भाजपा को शर्म आनी चाहिए। किसी ने उसे हमारे देश की संपत्ति बेचने का अधिकार नहीं दिया है।’ वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को 6 लाख करोड़ रुपये की राष्ट्रीय मौद्रीकरण पाइपलाइन की घोषणा की थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

भवानीपुर विधानसभा चुनाव : हाई कोर्ट में निर्णायक सुनवायी आज

निवाचन आयोग को आज दाखिल करना पड़ेगा एफिडेविट सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : भवानीपुर विधानसभा चुनाव को लेकर हाई कोर्ट में दायर पीआईएल पर शुक्रवार को निर्णायक सुनवायी आगे पढ़ें »

ऊपर