चुनाव बाद हिंसा मामले में प्रियंका ने की लोगों की मदद : दिलीप घोष

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने शुक्रवार को कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ एक महिला को चुना है क्योंकि पश्चिम बंगाल में चुनाव बाद हिंसा को लेकर वह अपना पक्ष स्पष्ट कर चुकी हैं। उन्होंने कहा, ‘अगर कुछ ममता बनर्जी के खिलाफ जाता है तो वह कहना शुरू कर देती हैं कि भाजपा महिलाओं का सम्मान नहीं करती। चुनाव बाद हिंसा के मुद्दे पर प्रियंका ने कई बार जिलों का दौरा किया और कम से कम 12,000 मामलों का पता उसने किया।’ मंत्री फिरहाद हकीम के बयान कि प्रियंका को कोई नहीं जाता, पर कटाक्ष करते हुए दिलीप घोष ने कहा कि ममता बनर्जी को लोगों ने तब जाना जब 1984 में उन्होंने सोमनाथ चटर्जी को हराया। दिलीप घोष ने कहा, ‘काेई भी पहली ही बार में लोकप्रिय नहीं बन जाता। आ​ज ममता बनर्जी मुख्यमंत्री बन गयी हैं, लेकिन 1984 में सोमनाथ चटर्जी को हराने के बाद वह लोकप्रिय हुईं। प्रियंका भी लोक​प्रिय हो जाएंगी।’ उन्होंने कहा कि नंदीग्राम की तरह भवानीपुर में भी लोग ममता बनर्जी को हरायेंगे। बाबुल सुप्रियो को स्टार प्रचारकों में शामिल किये जाने पर उन्होंने कहा कि बाबुल काफी सक्रिय हैं और भाजपा में हैं। इस बीच, बाबुल सुप्रियो ने प्रियंका टिबड़ेवाल को उम्मीदवार बनाये जाने पर फेसबुक पोस्ट कर बधाई दी। यह पूछे जाने पर कि प्रचार में पीएम या गृह मंत्री क्यों नहीं आ रहे हैं, इस पर उन्होंने कहा कि वे उपचुनाव के लिए प्रचार नहीं करेंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

शोभन का घर खरीदा वैशाखी ने, रत्ना को सम्मान से घर छोड़ने को कहा

रत्ना ने कहा, हिम्मत है तो निकाल के दिखाये, मरुंगी भी इसी घर में सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : केएमसी के पूर्व शोभन चटर्जी इन दिनों आर्थिक तंगी आगे पढ़ें »

ऊपर