आज लक्खी पूजा, आसमान छू रही हैं फल व सब्जियों की कीमतें

कोलकाता : आज कोजागरी लक्खी पूजा है। इस दिन घर – घर मां लक्खी की पूजा कर घर में सुख, शांति और समृद्धि की कामना की जाती है। प्रत्येक वर्ष बड़े ही धूमधाम और हर्षोल्लास के साथ घरों में और पंडालों में मां लक्ष्मी की पूजा राज्य भर में की जाती है। हालांकि इस बार परिस्थितियां काफी अलग हैं। कोरोना काल है और इसी बीच सभी त्योहारों की तरह मां लक्ष्मी की पूजा भी की जाएगी।

कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन में लगभग सब कुछ खुल गया, लेकिन ट्रेनें अब भी बंद हैं। ऐसे में जिलों से सब्जियों के कोलकाता पहुंचने में काफी दिक्कतें हो रही हैं। इसके साथ – साथ अम्फान ने भी बंगाल में कहर ढाया था जिसकी मार से अब तक किसान पूरी तरह उबर नहीं पाये हैं। इन सभी कारणों से लक्खी पूजा से पहले सब्जियों की कीमतें आसमान छू रही हैं। इसके साथ ही फल और फूलों की कीमतों को देख तो ऐसा लग रहा है कि कहीं इस बार इनके लिए भक्त तरस ना जाएं।

सप्लाई की कमी ने बढ़ायी कीमतें
वेस्ट बंगाल वेंडर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष कमल दे ने सन्मार्ग को बताया, ‘यूं तो लक्खी पूजा से पहले हर बार ही सब्जियों के दाम बढ़ते हैं, लेकिन इस बार दाम कुछ अधिक ही बढ़ा है। कोरोना, ट्रेनें बंद रहने व अम्फान के कारण सप्लाई सही ढंग से नहीं हो पा रही है। ट्रेन से 2 टन सब्जियां लाने पर जहां 1,000 रुपये खर्च होता था, वहीं अब ट्रक से 2 या 3 टन सब्जियों का खर्च 12,000 रुपये आ रहा है।’ वहीं फोरम ऑफ ट्रेडर्स ऑर्गनाइजेशन ऑफ पश्चिम बंग के महासचिव रवींद्र नाथ कोले ने बताया, ‘हर बार लक्खी पूजा के समय में सब्जियों के दाम 30-40 रुपये रहते हैं, लेकिन इस बार 50-60 रुपये तक दाम है। अम्फान व कोरोना के कारण सप्लाई की कमी से सब्जियों के दाम अधिक बढ़े हैं।’

फल और फूलों की कीमतों से भी ग्राहक परेशान ना केवल सब्जियों बल्कि फल और फूलों की बढ़ी कीमतों से भी ग्राहक काफी परेशान हैं। खीरे की कीमत 100 रुपये किलो पर पहुंच गयी है तो वहीं अनार भी 100 रुपये में बिक रहा है। दुकानदार केष्टो मंडल का कहना है कि अमूमन फलों के दाम 70-80 रुपये किलो तक रहते हैं, लेकिन इस बार दाम अधिक बढ़े हैं। उन्होंने कहा कि ट्रेन चलने से अधिक सब्जियां कोलकाता आतीं, लेकिन फिलहाल ऐसा नहीं हो पा रहा है। इस कारण फल भी कम आये हैं। वहीं फूलों की कीमतों पर दुकानदार शिबू माइती ने कहा कि कमल फूल के दाम सबसे अधिक बढ़े हैं।

अधिक पार्किंग फीस ने बढ़ायी परेशानी
पार्किंग फीस अधिक रहने के कारण व्यवसायियों की परेशानी और बढ़ गयी है। एक व्यवसायी ने बताया कि 8 से 10 घंटे की पार्किंग फीस 200 रुपये तक वसूली जा रही है। छोटे ट्रकों से सब्जियां लायी जा रही हैं ​जिस कारण काफी समस्या हो रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

प्रतिष्ठा बचाने उतरेगी भारतीय टीम, नटराजन या शार्दुल को मिल सकता है मौका

कैनबरा : पहले दो मैचों में एकतरफा हार के बाद भारतीय टीम का बुधवार को यहां ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे और अंतिम एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट आगे पढ़ें »

चैम्पियंस लीग : बार्सीलोना ने मेस्सी को दिया विश्राम

बार्सीलोना : बार्सीलोना ने फेरेंकवारोस के खिलाफ बुधवार को होने वाले चैम्पियंस लीग फुटबॉल मैच से पहले लियोनेल मेस्सी, मार्क आंद्रे टेर स्टेजेन और फिलीपे आगे पढ़ें »

ऊपर