हरिशचंद्रपुर में भाजपा प्रत्याशी को लेकर राजनीति गरमायी, दो गुटों में बंटी पार्टी

भाजपा प्रत्याशी का फ्लेक्स खोल किया विरोध प्रदर्शन
नया निदर्लीय उम्मीदवार को समर्थन दे सकता है अन्य गुट
हत्या के एक पुराने मामले को लेकर जताया गया गुस्सा
सन्मार्ग संवाददाता
मालदह : मालदह के हरिशचंद्रपुर में भाजपा प्रत्याशी का फ्लेक्स खोलकर स्थानीय लोगों ने प्रदर्शन किया। आरोप है कि हत्या के एक पुराने मामले को केन्द्र कर हरिशचंद्रपुर के लोग काफी फिर गुस्से में है। इसे लेकर विरोधी दल के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने अपना गुस्सा जाहिर करते हुए यह प्रदर्शन किया। वहीं कुछ लोगों का कहना है कि इस गुस्से का कारण भाजपा के एक खेमे में असंतोष है। यही कारण है कि इस विधानसभा सीट से एक निर्दलीय उम्मीदवार को मैदान में उतारने की तैयारी शुरू कर दी गयी है। आरोप है कि हत्या के उक्त मामले में भाजपा प्रत्याशी मोतीबुर रहमान के बड़े भाई शामिल थे। जैसे ही उन्हें इस बारे में पता चला, मृतक के भाई सौरमल अग्रवाल ने अपने घर के सामने मोतीबुर की तस्वीर के साथ चुनाव प्रचार वाला फ्लेक्स निकालकर फेंक दिया। सौरमल भी क्षेत्र में सक्रिय भाजपा कार्यकर्ता हैं। मोतीबुर के उम्मीदवार बनने के बाद सौरमल ने उनके घर पर जाकर पहले उन्हें बधाई भी दी थी लेकिन अपने बड़े भाई की हत्या के अभियुक्त के बारे में जानने के बाद यह प्रदर्शन शुरू हो गया। इस बारे में जैसे ही घटना की सूचना मिली, फिर से इलाके में तनाव का माहौल फैल गया। विरोध प्रदर्शन में भाजपा नेता जियाउ रहमान और मनोरंजन दास भी मौजूद थे। हालांकि, भाजपा उम्मीदवार ने दावा किया कि मामला निराधार था। इसके अलावा, यह भी दावा किया है कि ये जमीनी साजिश हैं।
यह है मामला
भाजपा के उम्मीदवार की घोषणा के बाद 18 फरवरी को हरिशचंद्रपुर में पहला विरोध प्रदर्शन हुआ। पार्टी कार्यालय में तोड़फोड़ की गयी। टायर जलाया गया। कुछ भाजपा नेताओं द्वारा विरोध प्रदर्शन हुआ। हालांकि स्थिति बाद में सामान्य हो गयी। बाद में फिर से असंतोष दिखने लगा। पता चला है कि गत 2 दिसंबर, 2012 को हरिशचंद्रपुर के एक व्यापारी कन्हैयालाल अग्रवाल की हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने घटना में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया और उसे जेल में डाल दिया। पीड़ित के भाई सौरमल का दावा किया है कि वह आरोपी भाजपा उम्मीदवार का भाई है। नतीजतन, भले ही वह एक समर्पित भाजपा कार्यकर्ता हो, वह एक ऐसे व्यक्ति को उम्मीदवार के रूप में स्वीकार नहीं कर पाएगा। उन्होंने कहा कि मुझे भाजपा से प्यार है लेकिन यह जानने के बाद कि मेरे भाई की हत्या में उम्मीदवार का भाई शामिल है, मैं उसका समर्थन नहीं कर सकता था। हम निर्दलीय उम्मीदवारों को मैदान में उतारेंगे और भाजपा समर्थकों को वोट देने के लिए कहेंगे। जिला अल्पसंख्यक मोर्चा के पूर्व महासचिव जियाउल हक ने कहा कि हमारा पूरा समर्थन मोतीबुर को है लेकिन जब उन्हें पता चला कि उम्मीदवार के भाई हत्या में शामिल थे, तो उन्हें अब समर्थन नहीं दिया जा सकता था इसलिए हम एक और निर्णय लेने जा रहे हैं। भाजपा उम्मीदवार मोतीबुर रहमान ने कहा कि मेरा कोई भाई नहीं है। या सब तृणमूल के इशारे पर हो रहा है। उम्मीदवार के चुनाव एजेंट अनिरुद्ध साहा ने कहा कि मैं उन लोगों को कैसे भाजपा समर्थक बोल सकता हूंजो भाजपा के झंडे को ही नुकसान पहुंचा रहे है। वे दूसरी टीम के लिए काम करते दिख रहे हैं। इस संदर्भ में, हरिशचंद्रपुर -1 ब्लॉक के तृणमूल अध्यक्ष माणिक दास ने कहा कि भाजपा उम्मीदवार पर गुस्सा करने के कारण पार्टी के भीतर तोड़फोड़ और आगजनी की घटना हुई।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सावधान ! आज रामनवमी पर दंगा फैला सकती है भाजपा : ममता

भाजपा का पलटवार, पहले अपने मंत्री की भाषा सुने सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : चुनावी सभा में प्रचार के लिए पहुंची ममता बनर्जी ने जनता को आगाह किया आगे पढ़ें »

कोरोना की मार : केवल 5 जिले ही राज्य के लिए पड़ रहे भारी

सेकेंड वेब में भी इन जिलों में कोरोना के मामले कर रहे परेशान सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः राज्य में कोरोना वायरस महामारी का असर कुछ ऐसा है कि आगे पढ़ें »

ऊपर