बेलघरिया में प्रदर्शन कर रहे लोगों पर पुलिस ने बरसायीं लाठियां

मां को पीटकर मारने की आरोपी बेटी की गिरफ्तारी की कर रहे थे मांग
बेलघरिया : बेलघरिया थाने के उदयभिला इलाके के निवासियों ने शनिवार को स्थानीय निवासी रानीबाला की पीट-पीटकर हत्या किये जाने का आरोप उसकी बेटी रत्ना दास पर लगाते हुए उसे घर में प्रवेश करने से रोक दिया और उसकी गिरफ्तारी की मांग करते हुए विक्षोभ जताया। दूसरी ओर इस क्षोभ की खबर पाकर बेलघरिया थाने की पुलिस वहां पहुंची। आरोप है कि उनकी बात सुनने के बजाय पुलिस ने उन पर ही लाठियां बरसा दीं। पुलिस के लाठीचार्ज में स्थानीय 10 लोग घायल हो गये जिन्हें सागरदत्त अस्पताल में चिकित्सा करवानी पड़ी। इसके बावजूद इलाके के लोगों का कहना है कि वे रत्ना की गिरफ्तारी की मांग जारी रखेंगे। दूसरी ओर आम जनता पर हुए लाठीचार्ज की जानकारी पर वहां का भाजपा नेतृत्व भी इलाके में पहुंचा और पुलिस की मनमानी का जमकर विरोध जताया। स्थानीय भाजपा नेता गोविंद झा ने आरोप लगाया कि यह पुलिसिया अत्याचार आम लोगों पर नहीं चलेगा। मामले की छानबीन करने के बजाय पुलिस ने आम लोगों की आवाज दबाने की को​शिश है क्योंकि मामले को दबाने का दबाव पुलिस पर है। वहीं इलाके के लोगों का आरोप है ​कि रत्ना अपनी मां की संपत्ति को हथियाने के लिए उसपर अत्याचार करती थी। दो दिन पहले ही उसने रानीबाला को पीटा जिससे उसकी तबीयत काफी बिगड़ गयी। पुलिस को इसकी खबर देने के साथ ही उन्होंने वृद्धा को अस्पताल में भर्ती करवाया था जहां उसकी मौत हो गयी। इलाके के लोगों का आरोप है कि कार्रवाई करने के बजाय उनपर ही अत्याचार किया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

डेढ़ लाख के ब्राउन सुगर के साथ एक गिरफ्तार

सिलीगुड़ी: एनजेपी थाना के सिविल ड्रेस की पुलिस ने अभियान चलाकार मंगलवार देर रात फुलबाड़ी टोलप्लाजा संलग्न इलाके से एक युवक को गिफ्तार किया है। आगे पढ़ें »

पीएम व कैलाश के खिलाफ तृणमूल ने चुनाव आयोग में की शिकायत

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः तृणमूल के राज्यसभा सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने कहा है कि चुनाव की तारीखों का ऐलान हो चुका है। ऐसे में प्रधानमंत्री का आगे पढ़ें »

ऊपर