वोटों का ध्रुवीकरण बिगाड़ सकता है श्रीरामपुर-चांपदानी का समीकरण

वोटरों की शांति बयां कर रही है परिवर्तन की कहानी !
सन्मार्ग संवाददाता
हुगली : चौथे चरण के चुनाव में हुगली की दो सीटें श्रीरामपुर और चांपदानी कई मायनों में महत्वपूर्ण नजरिये से देखी जाती है। पहली बात तो यहां हिन्दीभाषी वोटर्स की संख्या अच्छी-खासी है, दूसरी बात अल्पसंख्यक वोटर भी यहां जीत या हार में भूमिका निभाते है। ये दोनों ही सीटों पर साम्प्रदायिकता का रंग अब तक नहीं चढ़ा था लेकिन इस बार श्रीरामपुर कहे या चांपदानी दोनों ही सीट पर तृणमूल को भाजपा टक्कर दे रही है। कहना गलत न है कि दोनों पार्टियों की ओर कुछ खास वर्ग के वोट बैंक का झुकाव है। यह झुकाव ही है जो इस चुनाव में साफ दिख रहा है जिसे वोटों का ध्रुवीकरण कहा जाये तो गलत न होगा।
श्रीरामपुर में वोट तो बंटे लेकिन दांवेदारों को लेकर मतदाता कंफ्यूज
श्रीरामपुर विधानसभा में यह तो तय है कि वोटरों का खेमा बंट गया है। साथ ही यह भी देखा गया है कि कुछ मतदाता कंफ्यूज है लेकिन कहने में चूक नहीं रहे है। महेश की पोलिंग बूथ में गये एक वोटर ने कहा कि भाजपा पसंद है लेकिन उम्मीदवार नया है उस पर विश्वास करना मुश्किल हो रहा है। इसी तरह श्रीरामपुर में एक वोटर का आरोप है कि हमारे विधायक किसी भी वक्त हमें नहीं मिलते है। इसलिए अगर भाजपा के ‘बाहरी’ उम्मीदवार को मौका दे तो गलत न होगा। कुल मिलाकर मतदाताओं में एक माहौल अलग दिखा जो हर बार की तुलना में भिन्न था।
चांपदानी में साफ दिखा वोटों का बंटवारा
चांपदानी में इलाके के स्तर पर वोटों का बंटवारा देखने को मिला। पहली बार वोट देने आये युवक ने साफ कहा कि मैं हिन्दु हूं तो जाहिर है मेरा वोट भाजपा को ही जाएगा। उसने यह तक कह दिया कि उसका साथी अल्पसंख्यक है जिसने आंख बंद करके तृणमूल को वोट दिया है। वोटों का यह ध्रुवीकरण इस बार यहां अधिक दिखा इसकी वजह मौजूदा कांग्रेस विधायक अब्दुल मन्नान से लोगों की नाराजगी भी मानी जा रही है। यहां अंगस इलाके में लोगों का आरोप है कि विधायक बराबर नहीं मिलते है, इसलिए अपने पाले से मिलते-जुलते पार्टी को सपोर्ट करना समझदारी होगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ममता बनर्जी के 2 मंत्री सहित 4 नेताओं को मिली जमानत

- सीबीआई की हिरासत की अर्जी खारिज कोलकाताः नारदा स्टिंग ऑपरेशन मामले में गिरफ्तार मंत्री सुब्रत मुखर्जी, मंत्री फिरहाद हकीम, पूर्व मे मेयर  शोभन चटर्जी और आगे पढ़ें »

चक्रवात ताउते में पी 305 नाव लापता, 273 लोग सवार

- आईएनएस कोच्चि सर्च और रेस्क्यू अभियान में जुटी मुंबई : चक्रवात ताउते का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है।  भीषण चक्रवाती तूफान ताउते अरब सागर आगे पढ़ें »

ऊपर