प्रधानमंत्री आज ओडिशा और पश्चिम बंगाल के ‘यास’ प्रभावित इलाकों का करेंगे दौरा

ममता बनर्जी के साथ करेंगे बैठक
सन्मार्ग संवाददाता
नयी दिल्ली/कोलकाता : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चक्रवाती तूफान ‘यास’ से प्रभावित ओडिशा और पश्चिम बंगाल के विभिन्न इलाकों का दौरा करेंगे और दोनों ही राज्यों में इससे हुए नुकसान की समीक्षा भी करेंगे। सरकारी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, प्रधानमंत्री सबसे पहले ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर पहुंचेंगे जहां वह एक समीक्षा बैठक करेंगे। इसके बाद वह ओडिशा के बालासोर और भद्रक तथा पश्चिम बंगाल के पूर्व मिदनापुर जिलों के प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण करेंगे। दिल्ली लौटने से पहले प्रधानमंत्री पश्चिम बंगाल में एक समीक्षा बैठक करेंगे। चक्रवाती तूफान ‘यास’ के बुधवार को देश के पूर्वी तटों से टकराने के बाद भारी बारिश हुई। चक्रवात के दौरान 145 कि.मी. प्रति घंटे की रफ्तार से तूफानी हवाएं चलने से कई मकान क्षतिग्रस्त हो गये, खेतों में पानी भर गया। चक्रवात से जुड़ी घटनाओं में 4 लोगों की मौत हो गयी जबकि इसके कारण ओडिशा, पश्चिम बंगाल और झारखंड में 21 लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया। चक्रवात के कारण ओडिशा में 3 लोगों और पश्चिम बंगाल में एक व्यक्ति की मौत हो गयी। पश्चिम बंगाल सरकार ने दावा किया है कि इस प्राकृतिक आपदा के कारण कम से कम एक करोड़ लोग प्रभावित हुए हैं। ‘ताउते’ के बाद एक सप्ताह के भीतर देश के तटों से टकराने वाला ‘यास’ दूसरा चक्रवाती तूफान है।
कलाईकुण्डा में हो सकती है ममता बनर्जी के साथ बैठक
आज यानी शुक्रवार को पश्चिम मिदनापुर के कलाईकुण्डा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आने वाले हैं। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बताया कि पीएम ओडिशा और पूर्व मिदनापुर के चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण कर कलाइकुंडा आएंगे जहां से वे दिल्ली रवाना होंगे। इसलिए कलाइकुंडा में ही चक्रवात को लेकर समीक्षा बैठक की जाएगी। साथ ही ममता ने बताया कि वह खुद आज उत्तर 24 परगना और दक्षिण 24 परगना में चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करने वाली हैं। ममता ने बताया कि सबसे पहले वह संदेशखाली और हिंगलगंज जाएंगी, जहां डीएम और एसपी के साथ बैठक करेंगी। उसके बाद सागर का हवाई सर्वेक्षण कर वहां के डीएम और एसपी के साथ मीटिंग करेंगी फिर कलाइकुंडा में पीएम के साथ उनकी बैठक होगी। इस बैठक के बाद ममता दीघा जाएंगी और कल दीघा समेत वहां के बाकी चक्रवात प्रभावित क्षेत्रों का हवाई सर्वेक्षण करेंगी। सूत्रों के अनुसार, बैठक के साथ ही मुख्यमंत्री को लेकर प्रधानमंत्री पूर्व मिदनापुर के क्षतिग्रस्त इलाकों का हवाई सर्वेक्षण भी कर सकते हैं।
इस बीच, यास को लेकर राज्य सरकार को केंद्र सरकार ने 400 करोड़ रुपये आवंटित किये हैं जिससे ममता बनर्जी नाराज थीं। वहीं ओडिशा व आंध्र प्रदेश को अग्रिम 600 करोड़ रु. आवंटित किये गये हैं। ऐसे में प्रधानमंत्री हवाई सर्वेक्षण कर हालातों का जायजा लेने के बाद इस आपदा के लिए पश्चिम बंगाल को और रुपये आवंटित कर सकते हैं। यहां उल्लेखनीय है कि वर्ष 2020 में भी अम्फान के बाद राज्य की परिस्थिति देखने के लिए प्रधानमंत्री आये थे। उस समय बशीरहाट में उन्होंने मुख्यमंत्री समेत प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की थी। बैठक के बाद 1000 करोड़ रु. आवंटित भी किये गये थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माध्यमिक के लिए 50 : 50 सूत्र, एचएस के लिए 40 : 60 सूत्र से मिलेंगे अंक

माध्यमिक का 9वीं का वार्षिक और 10वीं की इंटरनल परीक्षा के आधार पर होगा रिजल्ट उच्च माध्यमिक के लिए 2019 की माध्यमिक और 11वीं की प्रैक्टिकल आगे पढ़ें »

लड़कियों के स्तनों को छूने से पहले…

कोलकाता : जानना चाहते हैं कि किसी लड़की के स्तनों को कैसे छुएं। बहुत से पुरुषों को समझ नहीं आता है कि वह पहली बार आगे पढ़ें »

ऊपर