कोलकाता में नये वर्ष के मौके पर लोगों ने पटाखे चलाये, वायु गुणवत्ता में गिरावट

कोलकाता : कोलकाता में नये वर्ष के स्वागत में पटाखा चलाये जाने के बाद शहर में वायु गुणवत्ता सूचकांक शनिवार को खराब स्तर पर पहुंच गया। पश्चिम बंगाल प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी। अधिकारी ने बताया कि कोलकाता में सुबह स्मॉग फैला हुआ था क्योंकि पटाखों के उत्सर्जन के साथ-साथ धुंध भी थी जिससे प्रदूषण के स्तर में इजाफा हुआ। निगरानी केंद्र के अनुसार दिन में 11 बजे कोलकाता का वायु गुणवत्ता सूचकांक 237 दर्ज किया गया जबकि रवीन्द्र भारती विश्वविद्यालय में यह 239 मापा गया। इसी प्रकार फोर्ट विलियम और जादवपुर का सूचकांक क्रमश: 179 और 187 दर्ज किया गया। गौरतलब है कि शून्य से 50 के बीच वायु गुणवत्ता सूचकांक को ‘अच्छा’, 51 और 100 को ‘संतोषजनक’, 101 और 200 को ‘मध्यम’, 201 से 300 को ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 और 500 को ‘गंभीर’ माना जाता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

कोरोना ने तोड़ा 8 महीने का रिकॉर्ड; 24 घंटे में….

नयी दिल्ली: कोरोना के दैनिक मामलों में रिकॉर्ड इजाफा देखने को मिला। बुधवार को तीन लाख से अधिक नए मामले सामने आए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय आगे पढ़ें »

ऊपर