पेगासस जासूसी के आरोपों की जांच के लिए बनेगी कमेटी

कोलकाता : पेगासस जासूसी मामले की जांच अब एक कमेटी द्वारा की जाएगी। केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट को इस बारे में जानकारी दी है। कमेटी बनाने के ऐलान के साथ-साथ सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार ने पेगासस से जासूसी के आरोपों को नकारा भी। सुप्रीम कोर्ट में केंद्र की तरफ से दो पेज का एफिडेविट दाखिल किया गया है। हलफनामे के मुताबिक सरकार विशेषज्ञों की एक कमेटी बनाएगी जो इस पेगासस विवाद की जांच करेगी। बता दें कि आज पेगासस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई थी। कोर्ट में केंद्र सरकार ने उसपर लगे सभी आरोपों को नकारा। केंद्र ने आज पेगासस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में एफिडेविट भी दायर किया। यह दो पेज का था। केंद्र ने कहा कि उनकी तरफ से कोई जासूसी या अवैध निगरानी नहीं की गई। हलफनामे में सरकार ने वरिष्ठ पत्रकार एन राम और अन्य याचिकाकर्ताओं के लगाए सारे इल्जाम सिरे से नकार दिए हैं। उनकी याचिका में आरोप थे कि सैनिक प्रयोग के इस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल सरकार ने पत्रकारों, राजनेताओं, एक्टिविस्ट, नौकरशाहों और न्यायपालिका से जुड़े लोगों की जासूसी के लिए किया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

उत्तर हावड़ा में सांगठनिक बैठक के दौरान भाजपा के दो नेताओं में मारपीट

सन्मार्ग संवाददाता हावड़ा : चुनाव के बाद भाजपा के श्रमिक संगठन की बैठक के दौरान दो नेता आपस में ही भिड़ गये। यह घटना गत बुधवार आगे पढ़ें »

ऊपर