आरक्षित टिकट की बुकिंग बंद रहने से हलकान हुए यात्री

सियालदह-बनगांव शाखा के कई स्टेशनों पर रहा लिंक फेल
यात्रियों ने जहां अग्निकांड पर जताया अफसोस वहीं इस समस्या पर जतायी चिंता
बारासात : कोलकाता के स्ट्रैंड रोड पर रेलवे के विभागीय कार्यालय में लगी आग में जहां 9 लोगों की जान चली गयी वहीं इस अग्निकांड में कंप्यूटर व अन्य मशीनों के जल जाने से रिजर्व टिकट बुकिंग की व्यवस्थाओं पर भी जगह-जगह प्रभाव पड़ा। सियालदह-बनगांव शाखा के बारासात जंक्शन पर ही नहीं बल्कि प्रायः सभी स्टेशनों पर ही लिंक नहीं होने के कारण आरक्षित टिकट काउंटरों पर काम ठप पड़ा। टिकट लेने पहुंचे यात्रियों को वहां से खाली हाथ लौटना पड़ा जिससे उन्हें काफी दिक्कतें उठानी पड़ीं। हालांकि यूटीएस पद्धति के जरिये लोकल व बिना आरक्षित टिकटों की परिसेवा किसी तरह से लोगों को दी गयी। आरोप है कि यह भी व्यवस्था काफी धीमी रही जिससे कई स्टेशनों पर टिकट काउंटरों पर हो-हल्ला मचा रहा। रेलवे कर्मियों द्वारा यात्रियों को समझाते-बुझाते देखा गया कि लिंक और अन्य चीजों में सुधार नहीं आने पर आरक्षित टिकटों की परेशानी फिलहाल बनी हुई है जिसे जल्द से जल्द ठीक किये जाने की कार्रवाई चल रही है। बारासात व मध्यमग्राम स्टेशनों से प्रति दिन सैकड़ों की संख्या में दूरगामी ट्रेनों के लिए लोग टिकट लेते हैं क्योंकि उन्हें नौकरी व अन्य कार्यों के सिलसिले में जाना-आना करना पड़ता है। ऐसे ही कुछ यात्रियों ने कहा कि टिकट नहीं मिल पाने कारण उन्हें यात्रा रोकनी पड़ेगी या फिर उन्हें बस या फिर अन्य माध्यम से गंतव्य तक पहुंचना होगा, हालांकि अग्निकांड की घटना को लेकर यात्रियों ने भी शोक व्यक्त करते हुए इसे एक भयावह घटना बताया। दूसरी ओर कुछ यात्रियों को इस बात से भी निराशा हुई कि अगले दो दिनों में उन्हें आरक्षित टिकट मिल पायेंगे या नहीं, ​इसका भी भरोसा रेलवे के कर्मी नहीं दे पा रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

90 ड्राइवरों व गार्ड के संक्रमित होने के बाद लोकल ट्रेनों का संचालन प्रभावित

कोलकाता : पूर्व रेलवे ने मंगलवार को कहा कि 90 ड्राइवरों और गार्ड के कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद उसने अभी तक सियालदह आगे पढ़ें »

ब्रेकिंगः नरेंद्र मोदी के संबोधन से जुड़ी हर बात यहां

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री ने देश के नाम पर संबोधन शुरू कर दिया है। आइए जानते हैं संबोधन की मुख्य बातें। मोदी ने कहा, ‘साथियो! अपनी आगे पढ़ें »

ऊपर