शाम की उड़ानों से आने वाले यात्रियों को एयरपोर्ट से घर जाना हो जाता है मुश्किल

मुख्य बातें
टैक्सी दलाल हो गये हैं सक्रिय, यात्रियों की मजबूरी का उठा रहे हैं फायदा
पेट्रोल व डीजल की कीमत के कारण वाहनों की कमी
भाड़ा भी सामान्य से काफी अधिक
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : शाम की उड़ानों से कोलकाता आने वाले यात्रियों को एयरपोर्ट पर काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। एक तो गाड़ियों की संख्या काफी कम हो गयी है और जो हैं भी वह सामान्य भाड़े के साथ एयरपोर्ट से जाना नहीं चाहती हैं। इनका मानना है कि एयरपोर्ट से अच्छा भाड़ा नहीं मिले तो उनका पूरा दिन बर्बाद हो जाता है और महंगाई इतनी अधिक है कि अब कम भाड़े में चलाना संभव नहीं है। इस कारण एयरपोर्ट यात्रियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। देर रात की फ्लाइट से आने वाले यात्री पिछले कुछ दिनों से स्टैंड पर टैक्सियों की कमी की शिकायत कर रहे हैं।
या​त्रियों की समस्या
इस बारे में टॉलीगंज की रहने वाली युवती व एयरलाइंस कर्मी सबिता सिंह ने बताया कि जब वह दिल्ली से रात की उड़ान से कोलकाता आ रही थी तब वह प्रीपेड टैक्सी की कतार में इंतजार कर रही थी। इस लाइन में लगभग 20 लोग और उसके सामने थे। इसके बाद उसे टैक्सी नहीं मिली। ऐप कैब बुक करने का सोचा तो 800 तक भाड़ा दिख रहा था। बाद में उसे इसे बुक करना ही पड़ा क्योंकि रात में दिल्ली से आने के बाद थक हार कर कब तक एयरपोर्ट पर बैठा जा सकता है। वहीं एक अन्य यात्री मनोज अग्रवाल ने बताया कि एयरपोर्ट से बाहर निकलते हुए 2 से 3 स्थानीय युवक उनके पास आये और बोला कि कहां जाना है, इसके बाद वे कहने लगे कि यहां से टैक्सी मिलना मुश्किल है। सर चलिए नहीं तो यहां से गाड़ी मिलना काफी मुश्किल हो जाएगा। यात्री का कहना है उन्हें काम के कारण मुम्बई में अक्सर जाना पड़ता है, ऐसे में काफी समस्या हो रही है। एक हफ्ते में यह दूसरा मौका है जब मुझे लंबा इंतजार करना पड़ा है। वहीं अभिषेक लाभ ने बताया कि मैं बंगलुरू में रहता हूं। प्री-पेड कैब पाने की उम्मीद में मुझे कई बार 1 घंटे से अधिक समय तक टैक्सी कियोस्क पर इंतजार करना पड़ जाता है। परिवार के साथ यात्रा करने के कारण मैं और अन्य ऑप्शन चुन नहीं सकता। अकेले होने पर तो इंसान पैदल भी निकल जाए लेकिन समान के साथ और परिवार हो तो यह संभव नहीं होता। वहीं कुछ यात्रियों ने परिवहन मंत्री से फरियाद की है कि एयरपोर्ट से बसों की संख्या और गंतव्य को बढ़ाया जाए।
क्या कहना है एयरपोर्ट अधिकारी का
सबसे पहले तो यात्रियों को टैक्सी या कोई भी वाहन इन टैक्सी दलालों से नहीं लेना चाहिए क्योंकि इससे इनका मनोबल बढ़ता है। एयरपोर्ट पर रात 11.30 बजे तक बस परिसेवा उपलब्ध है। पहले यह 9 बजे तक थी। इसे अब बढ़ा दिया गया है। सूत्रों की मानें तो एयरपोर्ट पर देर रात तक बसें और टैक्सी उपलब्ध रहती हैं। अगर यात्री थोड़ा धैर्य रखकर टैक्सी लेंगे तो उन्हें ही इन दलालों के चक्कर में नहीं पड़ना होगा। अक्सर देखा गया है कि उड़ानों की लैंडिंग के बाद सामानों के आने तक इंतजार में 30 से 45 मिनट तक इन यात्रियों को टर्मिनल के भीतर इंतजार करना पड़ता है। ऐसे में ये सोचते हैं कि बाहर निकले और तुरंत घर की ओर रवाना हो जाए। इसी का फायदा टैक्सी दलाल उठाते हैं। अक्सर ऐसी शिकायतें मिलती रहती हैं। इन या​त्रियों की शिकायत पर अक्सर इन टैक्सी दलालों को पकड़ा जाता है। लगभग 20 से 30 मामले प्रतिदिन थाने को सौंपे जा रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

घर में घुस कर शराब पी, रोकने पर डॉक्टर की पिटाई

बेंटरा इलाके की घटना हावड़ा : हावड़ा में युवकों का एक दल एक डॉक्टर के घर में घुसकर शराब पी रहा था। आरोप है कि जब आगे पढ़ें »

ऊपर