पार्थ चटर्जी का नेमप्लेट जो अब इतिहास बन गया

लंबा रहा है राजनीति कैरियर
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : लगभग 12 सालों से मंत्रालय संभाल रहे पार्थ चटर्जी के नाम के आगे से मंत्री की पदवी हट गयी। अब न तो उनके पास कोई विभाग है और ना ही बिना पोर्ट फोलियों के ही मंत्री रहे। नवान्न में उनके कार्यालय के गेट पर लगी नेमप्लेट भी हट गयी। यूं कहें कि वो नेमप्लेट अब इतिहास बन गया। बता दें कि एसएससी घोटाला मामले में ईडी द्वारा पार्थ चटर्जी को गिरफ्तार किया गया है तथा पार्थ के करीबी अर्पिता मुखर्जी के दो फ्लैट्स से करीब 50 करोड़ बरामद हुए है। पार्थ चटर्जी की गिरफ्तारी के छठवें दिन उन्हें मंत्रालय से हटा लिया गया वहीं दूसरी ओर पार्टी ने भी सारे पदों से बर्खाश्त कर दिया।
इन मंत्रालयों को संभाला है पार्थ चटर्जी
तृणमूल कांग्रेस 2011 में सत्ता आयी। लगातार तीनों टर्म में ही पार्थ चटर्जी को कैबिनेट में जगह मिली। पार्थ को स्कूल शिक्षा, संसदीय कार्य विभाग, कॉमर्स एंड इंडस्ट्री,आईटी विभाग की जिम्मेदारी मिली।
वर्ष 2011 के 20 मई को कैबिनेट मंत्री के पद की शपथ ली। उन्हें कॉमर्स एंड इंडस्ट्री, पब्लिक इंटरप्राइजेस, सूचना व तकनीकि तथा संसदीय मामलों के विभाग की जिम्मेदारी मिली।
2016 में उच्च शिक्षा विभाग तथा शिक्षा विभाग की जिम्मेदारी मिली। कॉमर्स एंड इंडस्ट्री, पब्लिक इंटरप्राइजेस, सूचना व तकनीकी विभाग भी मिली।
2021 – कॉमर्स एंड इंडस्ट्री, सूचना व तकनीकी तथा परिषदीय मामलों के ये तीन विभागों की जिम्मेदारी संभाल रहे थे।
एक नजर पार्थ के कैरियर पर
70 वर्षीय पार्थ चटर्जी का जन्म साल 1952 में कोलकाता में हुआ। पार्थ चटर्जी के पठनपाठन की बात करें तो रामकृष्ण मिशन विद्यालय, नरेन्द्रपुर और फिर असुतोश कॉलेज है, जहां उन्होंने अर्थशास्त्र का अध्ययन किया। उन्होंने एमबीए की पढ़ाई पूरी की। पार्थ चटर्जी बतौर एचआर भी काम कर चुके हैं। राजनीति करियर की बात करें तो साल 2001 में पहली बार विधायक के तौर पर चुने गए थे। उनका विधानसभा बेहला पश्चिम रहा है। तृणमूल जब सत्ता में नहीं थी उस दौरान पार्थ चटर्जी विधानसभा में विपक्ष के नेता भी रह चुके हैं। 2011 में तृणमूल जब सत्ता में आयी तो पार्थ का भी पद बढ़ता गया। सबसे अहम की पार्टी में प्रदेश महासचिव पद पर रहे। तृणमूल के मुखपत्र जागो बांग्ला के संपादक भी रहे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

आज शिक्षा मंत्री के साथ एसएससी आंदोलनकारियों की बैठक

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : 2016 के एसएससी आंदोलनकारियों से तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद अभिषेक बनर्जी ने पिछले दिनों कैमक स्ट्रीट कार्यालय में मुलाकात आगे पढ़ें »

ऊपर