मंत्रिमंडल से हटाये गये परेश अ​धिकारी

रत्ना, हुमायूं कबीर और सौमेन महापात्र को भी मंत्रिपद से हटाया गया
फिरहाद, इंद्रनील, मलय का दायित्व कम किया गया
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : एसएससी घोटाले की आंच ममता बनर्जी के फेरबदल किये गये मंत्रिमंडल में साफ दिख रहा है। राज्य शिक्षा मंत्री परेश अधिकारी को मंत्रिमण्डल से हटा दिया गया है। परेश पर एसएससी शिक्षक नियुक्ति में धांधली करने का आरोप है ​कि उसने अपनी बेटी को मेरिट लिस्ट में लाकर नौकरी दिलाने का आरोप है। इधर मंत्रिमंडल पर बात करें तो पर्यावरण मंत्री का विभाग संभालने वाली डॉ. रत्ना दे नाग और हुमायूं कबीर का विभाग भी वापस ले लिया गया है। सौमेन महापात्र को भी मंत्रीपद से हटा दिया गया है।
इन मंत्रियों का भार कम किया गया
मंत्रिमंडल में 8 नये चेहरों को शामिल करने के साथ ही कुछ हैविवेट मंत्रियों का भार कम भी किया गया है। फिरहाद हकीम से दो विभाग परिवहन और आवासन ले कर उसे क्रमश: स्नेहाशिष चक्रवर्ती और अरूप बिश्वास को दिया गया है। फिरहाद हकीम के पास अब सिर्फ शहरी विकास व नगर निगम व नगरपालिका विभाग की जिम्मेदारी हैं। मलय घटक का महत्वपूर्ण विभाग पीडब्ल्यूडी विभाग की जिम्मेदारी पुलक रॉय को दी गयी है। इंद्रनील के पास आईएनसी के अलावा महत्वपूर्ण पर्यटन विभाग था अब पर्यटन विभाग की जिम्मेदारी बाबुल सुप्रियो को मिली है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

इंडियन म्यूजियम फायरिंग मामले में गिरफ्तार जवान को सीआईएसएफ ने किया बर्खास्त

कुक ने दरवाजे पर जड़ दिया था ताला वरना जाती और भी कई जान इंडियन म्यूजियम के बैरक में फायरिंग का मामला सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : इंडियन म्यूजियम आगे पढ़ें »

ऊपर