दूधवाला से बना करोड़ों रुपये की सम्पत्ति का मालिक, पुलिस कर रही है पूछताछ

जगदीशपुर के पूर्व प्रधान को लिलुआ की पुलिस ने किया था गिरफ्तार
हावड़ा : गत सोमवार को लिलुआ की जगदीशपुर ग्राम पंचायत के पूर्व प्रधान गोविन्द हाजरा को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। उन पर आर्थिक मामलों में गड़बड़ी के आरोप हैं। इसके बाद गोविंद हाजरा को तीन दिनों के लिए पुलिस हिरासत में रखा गया है और पुलिस लगातार पूछताछ कर रही है। वहीं यह गोविंद दूध वाला से कैसे करोड़पति बन गया, यह अभी चर्चा का विषय है। 4 बार पंचायत प्रधान रहे गोविंद के पास करोड़ों की संपत्ति कहाँ से आयी। पुलिस इसे लेकर लगातार छानबीन में जुटी है। हालाँकि उनके खिलाफ कई आर्थिक मामले में गड़बड़ी करने के आरोप हैं जिसके कारण तृणमूल से भी उन्हें सस्पेंड कर दिया गया था।
गोविंद ने ज्वाइन की भाजपा, इसलिए फंसाया गया
गत विधानसभा चुनाव के ठीक पहले गोविंद हाजरा ने राजीव बनर्जी के बाद भाजपा ज्वाइन की थी। वहीं गत दो मई को विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद गोविंद का कोई अता-पता नहीं था और वह करीब डेढ़ महीने के बाद अपने घर लौटा। उनके लौटते ही लिलुआ थाने की पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया, लेकिन कोर्ट ले जाने के दौरान गोविंद ने साफ कहा कि उसे फँसाने की कोशिश की जा रही है। उसका आरोप था कि इसमें राजनैतिक षड्यंत्र छिपा है। इस मामले में भाजपा नेता उमेश राय का आरोप है कि गोविंद हाजरा पिछले कई सालों से तृणमूल में थे और अचानक उन्होंने भाजपा ज्वाइन कर ली। इसके कारण तृणमूल ने उनके खिलाफ कई मामले दर्ज करवा दिए हैं।
तृणमूल में रहते हुए सस्पेंड हुए थे गोविंद
वहीं इन आरोपों को खारिज करते हुए बाली-जगाछा ब्लॉक पंचायत समिति के पूर्व कर्माध्यक्ष सुभाष राय का आरोप है गोविंद जब तृणमूल में थे, तभी उनके खिलाफ कई आर्थिक दुर्नीति के मामले सामने आए थे। इसके कारण उन्हें पार्टी से भी सस्पेंड कर दिया गया था, लेकिन इसके बाद भी उनके स्वभाव में कोई परिवर्तन नहीं आया। वे अपने आपको बचाने के लिए भाजपा में शामिल हो गए।
दूध विक्रेता से बने 500 करोड़ की सम्पत्ति के मालिक
सुभाष राय का कहना है कि वह एक दूध विक्रेता थे और अब वे करीब 500 करोड़ रुपये की संपत्ति के मालिक हैं। सिर्फ यही नहीं बल्कि उन्होंने जगदीशपुर को गोविंदपुर बनाकर छोड़ दिया। उन पर आरोप है कि उन्होंने कम कीमतों पर सामान खरीद कर उसे अपना बना लिया। वहीं उन्हाेंने बनारस रोड के दोनों साइड में अपनी संपत्ति एकत्रित कर ली। सुभाष राय का यह भी आरोप है कि सरकारी परियोजनाओं के दौरान भी उन्होंने कई भ्रष्टाचार किए हैं। यहां तक कि बीडीओ तक को अपना प्रभाव दिखाकर काम करवाया था। उन्होंने जगदीशपुर मोड़ पर ट्विन टावर में एक कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स बनाया था। उन्हें सजा मिलनी ही चाहिए।
‘पुलिस अपना कार्य कर रही है’
इस मामले में तृणमूल हावड़ा सदर के चेयरमैन अरूप रॉय का कहना है कि पुलिस को अगर किसी के खिलाफ सबूत मिलते हैं, तो वह कार्रवाई जरूर करती है। चाहे वह किसी भी पोस्ट पर क्यों ना हो, वहीं डोमजूड़ के विधायक कल्याण बोस ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हमेशा से ही भ्रष्टाचार के खिलाफ हैं। ऐसे में पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार करके अच्छा काम किया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

सोने की स्थिति का सेहत पर पड़ता है प्रभाव, ऐसे सोने से ठीक हो सकते हैं खर्राटे और पीठ का दर्द

कोलकाता : शरीर को स्वस्थ और सक्रिय बनाए रखने के लिए पर्याप्त मात्रा में नींद लेना बेहद आवश्यक माना जाता है। नींद पूरी न होना आगे पढ़ें »

ऊपर