‘डर के माहौल से देश छोड़कर चले गए 35000 कारोबारी’: अमित मित्रा

कोलकाताः पश्चिम बंगाल के वित्त मंत्री  ने केंद्र की मोदी सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि साल 2014 से 2020 के छह साल के दौरान करीब 35,000 कारोबारी देश छोड़कर चले गए हैं। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि डर के मौहाल की वजह से कारोबारी देश छोड़ रहे हैं। उन्होंने पीएम मोदी से इस मामले पर संसद में श्वेतपत्र जारी करने की मांग की है। पश्चिम बंगाल के वित्त मंत्री ने ट्वीट कर कहा कि फरार होने वाले ये सभी उद्यमी हाई नेटवर्थ इंडिविजुअल (एचएनआई) यानी अमीर लोग हैं और ये अब प्रवासी भारतीय बन गए हैं।
क्या कहा मित्रा ने

मित्रा ने गुरुवार को सिलसिलेवार कई ट्वीट किए। उन्होंने कहा-‘ दुनिया में पलायन के मामले में भारत नंबर एक स्थान पर है…आखिर क्यों? ‘डर का माहौल’? पीएम को अपने शासन में उद्यमियों के इस भारी पलायन पर संसद में श्वेतपत्र जारी करना चाहिए।’
अमित मित्रा ने कहा कि Morgan Stanley की एक रिपोर्ट के अनुसार साल 2014 से 2018 के बीच करीब 23,000 हाई नेटवर्थ उद्यमियों ने भारत छोड़ दिया है। यह दुनिया में सबसे बदतर स्थिति है। इसी तरह Global Wealth Migration रिपोर्ट के अनुसार साल 2019 में 7,000 और साल 2020 में 5,000 कारोबारियों ने भारत छोड़ दिया है।
पीयूष गोयल की आलोचना

मित्रा ने इस मामले में वाण‍िज्य मंत्री पीयूष गोयल की भी आलोचना की। उन्होंने कहा, ‘पीयूष गोयल का वह 19 मिनट का विषवमन याद करिए जिसमें वह भारतीय कारोबार जगत के दस्तूर को देश हित के ख‍िलाफ बता रहे हैं। यानी एक तरह से उन्हें राष्ट्र विरोधी बता रहे हैं। ऐसे डर के माहौल से ही पलायन बढ़ता है. इसके बावजूद पीएम ने गोयल को फटकार नहीं लगाई. आख‍िर क्यों?’
अमित मित्रा असल में पीयूष गोयल के उस बयान की चर्चा कर रहे थे जो उन्होंने इस साल अगस्त में सीआईआई के एक इवेंट में दिया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

पश्चिम बंगाल जल्द बूस्टर डोज का परीक्षण करेगा

6 अस्पतालों ने जताई इच्छा सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पश्चिम बंगाल सरकार महानगर में कोविड-19 रोधी टीके की बूस्टर खुराक का जल्द परीक्षण करने की योजना बना आगे पढ़ें »

ऊपर