कमरहट्टी के कई वार्ड में डायरिया का प्रकोप, 2 मरे

70 से अ​धिक हैं पीड़ित, 9 अस्पताल में हैं भर्ती
कारणों का पता लगाने में जुटी पालिका
कमरहट्टी : कमरहट्टी पालिका के कई वार्ड में इन दिनों डायरिया का प्रकोप फैला हुआ है। पेट दर्द, उल्टी की समस्या को लेकर मंगलवार की सुबह डायरिया के कारण दो महिलाओं की मौत हो गयी। बताया जा रहा है ​कि लगभग 70 लोग डायरिया की चपेट में हैं। यही कारण है कि लोगों में इसको लेकर आतंक मचा है। प्राथमिक तौर पर माना जा रहा है कि पानी में गड़बड़ी के कारण लोग इस रोग से पीड़ित हो रहे हैं जिसे देखते हुए उन्हें पालिका की ओर से सचेत किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि वार्ड नंबर 1,2,3,4 व 5 में इसका प्रभाव अधिक है। मंगलवार को महिलाओं की इससे मौत हो जाने के बाद परिस्थिति की गंभीरता को देखते हुए पालिका की ओर से माइकिंग कर लोगों को पानी उबालकर व छानकर पीने को कहा जा रहा है, साथ ही संबंधित दवाएं भी पालिका की ओर से लोगों के घर-घर तक पहुंचाने की बात कही जा रही है। लोगों को आतंकित ना होकर विशेष सतर्कता बरतने के प्रति जागरूक किया जा रहा है। इन परिस्थितियों को लेकर कमरहट्टी पालिका प्रशासक मंडली के सदस्य व स्वास्थ्य विभाग संभाल रहे विमल साहा ने कहा कि उक्त वार्ड में जगह-जगह पानी की पाइपें फट गयी हैं संभवतः वहीं से गंदा पानी घरों में पहुंच रहा है और लोग दूषित पानी पीकर बीमार पड़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि फैल रहे संक्रमण को देखते हुए फिलहाल इन 5 वार्डों में लोगों को पालिका का पानी पीने से मना किया गया है। लोगों के घर-घर जाकर स्वच्छ पानी व डायरिया की दवाइयां दी जा रही हैं ताकि जिनमें भी इसके लक्षण दिख रहे हों वे घर पर ही चिकित्सा सेवा लेकर स्वस्थ हो जायें। उन्होंने कहा कि लोगों को आतंकित होने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि सारी उ​चित व्यवस्थाएं हम कर रही हैं। जहां-जहां यह समस्या सामने आयी है वहां के पानी को टेस्ट के लिए लैब में भेजा गया है। वहीं पालिका पर भारी लापरवाही का आरोप भाजपा नेता गोविंद झा ने लगाया है। उन्होंने आरोप लगाया कि पिछले कई महीनों से ही पाइप लाइन की मरम्मत तो सड़क मरम्मत के नाम पर अंचल में जगह-जगह गड्ढे खोदे गये हैं और तभी जगह-जगह पेयजल की पाइपें फट गयीं मगर उसे ठीक करने के बजाय ऐसे ही छोड़ दिया गया। वहीं पानी की टंकियों की भी साफ-सफाई के अभाव के कारण कमरहट्टी अंचल में इस तरह से डायरिया फैला है। लोग आतंकित हो उठे हैं। उन्होंने कहा कि पालिका को इस परिस्थिति में सभी पीड़ितों तक आवश्यक सुविधाएं पहुंचानी होंगी। हम खरीदकर पानी नहीं पी​ सकते हैं अतः इन सभी पांचों वार्डों में पालिक की ओर से लोगों के लिए पेयजल की व्यवस्था होनी चाहिए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

अज्ञात ज्वर का आतंक, विभिन्न अस्पतालों में सैकड़ों बच्चे भर्ती

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाताः कोरोना वायरस महामारी के बीच बच्चों में अज्ञात ज्वर को लेकर काफी आतंक देखा जा रहा है। कोरोनाकाल में बच्चों में अज्ञात बुखार आगे पढ़ें »

ऊपर