ओडिशा: लिंगराज मंदिर के पास खुदाई में निकला 10वीं शताब्दी के मंदिर का ढांचा

कोलकाता : ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर में लिंगराज मंदिर के पास हो रहे उत्खनन कार्य में एक प्राचीन मंदिर के साक्ष्य मिले हैं जो कि 10 वीं शताब्दी के हैं. यह मंदिर आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ़ इंडिया द्वारा की जा रही खुदाई में मिला है । लिंगराज मंदिर के एकमरा क्षेत्र हेरिटेज प्रोजेक्‍ट के अंतर्गत सारी मंदिर में उत्खनन और सौंदर्यीकरण का कार्य पुरातत्व विभाग कर रहा है। इसी में 10वीं शताब्दी के मंदिर के अवशेष मिले है। खुदाई में एक शिवलिंग मिला है जिसके बेस पर पत्थर की मीनाकारी की हुई है। पुरातत्व विभाग का मानना है कि पंचायती मॉडल पर सारी मंदिर परिसर बनाया गया, जहां मुख्य मंदिर चारों तरफ से सहायक मन्दिरों से घिरा हुआ है। साथ ही ये अंदेशा लगाया जा रहा है कि ये सोम वंश के शासन के समय का मंदिर है।खुदाई में कुछ दीवारों के हिस्से मिले हैं जिनपर कुछ मूर्तियां बनी हैं और उनपर नक्काशी की हुई है। ये मूर्तियां पहले ध्वस्त संस्कृत महाविद्यालय के परिसर के नीचे दफन थीं। पुरातत्व विभाग ने वैज्ञानिक तरीकों का इस्तेमाल करके खुदाई का काम किया है जिससे मूर्तियों का हिस्सा ज्यादा क्षतिग्रस्त न हो। आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया के अधीक्षक अरुण मल्लिक ने कहा कि खुदाई के काम में हमें प्राचीन मंदिर मिला, अभी दूसरे भाग में भी उत्खनन का कार्य हो रहा है। दीवारों के कुछ भाग में पुराने राजवंशो के उकेरे हुए स्‍टेच्‍यू मिले हैं।  ये पहले ध्वस्त हुए संस्कृत विद्यालय के परिसर के नीचे दफन थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

25 करोड़ की हेरोइन के साथ तस्कर गिरफ्तार

अभियुक्तों के पास से 5 किलो हेरोइन और कार जब्त कोलकाता : 25 करोड़ रुपये की हेरोइन के साथ कोलकाता पुलिस के एसटीएफ अधिकारियों ने एक आगे पढ़ें »

tmc

पहले यूपी की कानून व्यवस्था देखें, फिर बंगाल पर उंगली उठाएं – तृणमूल

हाथरस की घटना पर योगी को तृणमूल ने घेरा कोलकाता : बंगाल में चुनावी माहौल गरम है। भाजपा लगातार आक्रामक हो रही है, वहीं तृणमूल भी आगे पढ़ें »

ऊपर