अब वन नेशन वन नंबर गाड़ी की तैयारी, मिलेगी नई सीरीज

नहीं लगाने पड़ेंगे आरटीओ के चक्कर, मिलेगी सहूलियत
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः अब केंद्र सरकार आने वाले दिनों में गाड़ियों के मामले में भी वन नेशन वन नंबर जारी करने की तैयारी में है। ऐसे में आप यदि किसी नए राज्य में शिफ्ट होते हैं तो आपको अपने निजी वाहन का रजिस्ट्रेशन ट्रांसफर नहीं करवाना होगा। इससे वाहन मालिकों को बड़ी राहत मिलने की उम्मीद है। दरअसल अक्सर अन्य राज्यों में वाहनों के पंजीकरण में व्यापक परेशानी का सामना लोगों को करना पड़ता था।
रहेगी बीएच सीरीज, सारे देश में होगी मान्य
केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय नई रजिस्ट्रेशन सीरीज- भारत सीरीज (बीएच- सीरीज) शुरू करने जा रहा है। यह राज्यों के बीच यात्री वाहनों के ट्रांसफर को आसान बनाएगी। ऐसे में वाहन मालिकों को एक राज्य से दूसरे राज्य में स्थानांतरित होने पर नए सिरे से वाहनों के रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत नहीं पड़ेगी। नई बीएच सीरीज पूरे देश में वैध मानी जाएगी।
इन्हें मिलेगा फायदा
बीएच सीरीज नए वाहनों के लिए स्वैच्छिक आधार पर नई नीति होगी। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने कहा है कि, ”वाहनों के रजिस्ट्रेशन के लिए आईटी आधारित समाधान इस दिशा में एक बड़ा प्रयास है। एक राज्य से दूसरे राज्य में स्थानांतरण पर वाहनों का पुन: पंजीकरण कराने की जरूरत होती थी, जो काफी परेशानी वाला काम होता था।” यह सुविधा रक्षा कर्मियों के साथ-साथ केंद्र और राज्य सरकार के कर्मचारियों के लिए स्वैच्छिक आधार पर उपलब्ध की जा सकेगी। साथ ही साथ ऐसी निजी कंपनियों के कर्मी जिनके कार्यालय चार या ज्यादा राज्यों में मौजूद हैं, उन्हें भी सुविधा का लाभ मिल सकेगा। फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (फाडा) के सीईओ सहर्ष दमानी ने कहा कि आने वाले दिनों में ऐसा होने से बड़े पैमाने पर लोग नई सुविधा से लाभान्वित हो सकेंगे। आरटीओ के चक्कर लोगों को नहीं लगाने पड़ेंगे। टैक्स में भी काफी सुविधा हो सकेगी।
ट्रांसफरेबल जॉब के कर्मियों को अधिक सहूलियत
माना जा रहा है कि बीएच सीरीज का सबसे बड़ा फायदा ट्रांसफरेबल जॉब वाले लोगों को अधिक होगा। अन्य राज्य में स्थानांतरण के बाद ऐसे कर्मी अपने वाहन का पंजीकरण सर्टिफिकेट ट्रांसफर कराने की प्रक्रिया से बच सकेंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

शोभन का घर खरीदा वैशाखी ने, रत्ना को सम्मान से घर छोड़ने को कहा

रत्ना ने कहा, हिम्मत है तो निकाल के दिखाये, मरुंगी भी इसी घर में सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : केएमसी के पूर्व शोभन चटर्जी इन दिनों आर्थिक तंगी आगे पढ़ें »

ऊपर