अब भाजपा ने अगले टार्गेट पर रणनीति बनाना किया शुरू

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : विधानसभा चुनाव में पार्टी को मिली हार के बाद अब भाजपा ने अगले टार्गेट पर काम करना शुरू कर दिया है। यहां उल्लेखनीय है ​कि राज्य में कोलकाता नगर निगम समेत 100 से अधिक नगरपालिकाओं के चुनाव होने बाकी हैं। ऐसे में अब विधानसभा चुनाव में हारने के बाद अगले चुनावाें में पार्टी को किस तरह काम करना है, इस पर रणनीति बनानी चालू हो गयी है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने इस बारे में सन्मार्ग को बताया, ‘100 से अधिक पालिकाओं में चुनाव होने वाले हैं और हम इस पर काम कर रहे हैं। बंगाल में हमारे काफी समर्थक हैं। 2011 के विधानसभा चुनाव में हमारा वोट प्रतिशत 4 फीसदी बढ़ा और हमें 40% से अधिक वोट 2019 के लोकसभा चुनाव में मिले। इस बार ये वोट कुछ कम जरूर हुआ, लेकिन पालिका चुनावों में हम और मेहनत करेंगे।’ उन्होंने कहा, ‘इस चुनाव में हम अपने नतीजों का विश्लेषण कर रहे हैं। बूथ स्तर पर तैयारी की जा रही है, इसी पर आगे की रणनीति तैयार की जाएगी।’
जनसंपर्क बढ़ाने पर जोर
पार्टी सूत्रों के अनुसार, दिलीप घोष ने पार्टी कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया है कि राज्य की सभी 107 नगरपालिकाओं में अधिक से अधिक जनसंपर्क बढ़ायें। इसके लिए यास पीड़ितों को भी मदद करने के निर्देश दिये गये हैं। इसके अलावा कोलकाता नगर निगम के 144 वार्डों में भी विशेष जोर देने को कहा गया है।
निगम व पालिका चुनाव होगा बड़ा चैलेंज
पार्टी सूत्रों ने बताया कि विधानसभा चुनाव में 200 से अधिक सीटों का टार्गेट कर केवल 77 सीटें पाने के बाद अब भाजपा के लिए कोलकाता नगर निगम और पालिका चुनाव करवाना बड़ा चैलेंज होगा। पार्टी नेताओं का कहना है कि पंचायत चुनाव जैसी हिंसा भी इन चुनावों में होने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता। पंचायत चुनाव में ताे भाजपा उम्मीदवारों को नामांकन तक दाखिल नहीं करने दिया गया था, निगम व पालिका चुनावों में इसे लेकर भी हमें सतर्क होने की आवश्यकता होगी।
तृणमूल पार्षदों का रिपोर्ट कार्ड बना रही है पार्टी
चुनाव के लिए भाजपा ने तृणमूल पार्षदों की असफलता को हाइलाइट करने के लिए उनका रिपोर्ट कार्ड भी बनवाना शुरू कर दिया है। कोलकाता में डेंगू हो या फिर हेल्थकेयर सेंटर, सफाई आदि हो, ये सभी मुद्दे निगम व पालिका चुनाव में उठाये जाएंगे।
लोकसभा चुनाव में कोलकाता के 51 वार्डों में मिली थी लीड
2019 के लाेकसभा चुनाव में भाजपा ने 42 में से 18 सीटें लेते हुए तृणमूल को झटका दिया था। पिछले 5 वर्षों में भाजपा ने बंगाल में काफी बढ़त बनायी और मुख्य​ विपक्षी पार्टी के तौर पर उभरी। लोकसभा चुनाव में कोलकाता के वार्डों में भी पार्टी ने अच्छा प्रदर्शन किया और 144 में से 51 वार्डों में लीड बनाने में पार्टी कामयाब हुई थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माध्यमिक के लिए 50 : 50 सूत्र, एचएस के लिए 40 : 60 सूत्र से मिलेंगे अंक

माध्यमिक का 9वीं का वार्षिक और 10वीं की इंटरनल परीक्षा के आधार पर होगा रिजल्ट उच्च माध्यमिक के लिए 2019 की माध्यमिक और 11वीं की प्रैक्टिकल आगे पढ़ें »

लड़कियों के स्तनों को छूने से पहले…

कोलकाता : जानना चाहते हैं कि किसी लड़की के स्तनों को कैसे छुएं। बहुत से पुरुषों को समझ नहीं आता है कि वह पहली बार आगे पढ़ें »

ऊपर