विद्यासागर अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी नहीं, बढ़ा-चढ़ाकर दिखाया मामला

स्वास्थ्य ‌अधिकारी ने किया स्पष्ट
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाताः विद्यासागर हॉस्पिटल में एक मरीज की ऑक्सीजन की कमी से मौत संबंधी शिकायत परिजनों ने की है। इस पर मामले में संज्ञान लेते हुए स्वास्थ्य विभाग ने स्पष्ट किया है कि मरीज की ‌मौत किसी भी प्रकार से ऑक्सीजन की कमी से नहीं हुई है। मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट पर रखी गई थी। दरअसल बेहला स्थित अस्पताल पर परिजनों ने आरोप लगाया कि 50 साल की महिला मरीज यमुना नाथ की ऑक्सीजन की कमी से मौत हो गई।
राज्य के स्वास्थ्य सेवा निदेशक (डीएचएस) डॉ.अजय चक्रवर्ती ने कहा कि एक मरीज जमुना नाथ, 50 साल, महिला को सारी वार्ड, विद्यासागर सब-डिविजनल हॉस्पिटल में सुबह 6.06 बजे भर्ती कराया गया। रोगी को सांस की तकलीफ के साथ बुखार था। रोगी को आवश्यक दवाओं और ऑक्सीजन के साथ इलाज किया गया था। रोगी की चिकित्सा ऑक्सीजन के साथ जारी थी, लेकिन दुर्भाग्य से मंगलवार को सुबह 9.10 बजे तीव्र श्वसन संबंधी गंभीर बीमारी के कारण मरीज की मौत हो गई। रोगी के रिश्तेदारों ने मीडिया के सामने शिकायत की थी कि मरीज को ऑक्सीजन नहीं दी गई जो कि एक गलत तथ्य है। वर्तमान में सारी रोगियों के लिए 34 सारी बेड अस्पताल में है, लेकिन भारी मांग के कारण 10 अतिरिक्त बेड को और समायोजित किया गया। सोमवार को उस वार्ड में 32 पुरुष और 31 महिला सारी मरीज भर्ती हुए थे। इन रोगियों के लिए 10 ऑक्सीजन कंन्सन्ट्रेटर्स और 60 बी टाइप सिलेंडर इन मरीजों के लिए उपलब्ध हैं। अस्पताल में ऑक्सीजन की आपूर्ति में कोई कमी नहीं है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

5000 हेल्थ अस्टिटेंट को दी जाएगी मरीजों की देखभाल की ट्रेनिंग : केजरीवाल

नई दिल्ली : राज्यों ने जानलेवा कोरोना वायरस की संभावित तीसरी लहर से निपटने की तैयारी शुरू कर दी है। इसी क्रम में दिल्ली सरकार भी आगे पढ़ें »

पशुपति पारस के घर पर प्रदर्शन, रद्द हुई चिराग की प्रेस कॉन्फ्रेंस

पटना : बिहार की राजनीति में एकाएक हलचल बढ़ने लगी है। लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) में टूट हो गई है और अब वर्चस्व की लड़ाई आगे पढ़ें »

ऊपर